पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी की कार्यकारिणी गठित

हरिद्वार – पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी की कार्यकारिणी का गठन प्रयागराज कुंभ में संतों की बैठक में कर लिया गया। श्रीमहंत रविंद्र पुरी सहित सात श्रीमहन्तों को इस कार्यकारिणी में जगह मिली है। छह वर्ष के लिए गठित इस कार्यकारिणी के अलावा सात कारोबारी महंतो को भी चुना गया हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखाड़े की नई कार्यकारिणी और कारोबारी महन्तों को बधाई दी है। प्रयागराज कुंभ में सभी अखाड़ों के साधु संत पहुंचे हुए हैं। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के अधीन देशभर में मठ, मंदिर और अखाड़े की शाखाओं का संचालन करने के लिए प्रयागराज कुंभ में एक बैठक बुलाकर छह वर्ष के लिए कार्यकारिणी का गठन किया गया। इस कार्यकारिणी में श्रीमहंत रविंद्र पुरी, श्रीमहंत राम रतन गिरी, श्रीमहंत ओमकार गिरी, श्रीमहंत राधे गिरी, श्रीमहंत केशवपुरी, श्रीमहंत नरेश गिरी व श्रीमहंत मुनीश भारती को शामिल किया गया है। वहीं दिगंबर राधेश्याम पुरी, दिगंबर आनंद गिरी, दिगंबर नीलकंठ गिरी, दिगंबर राकेश गिरी, दिगंबर बलवीर पुरी, दिगंबर राजगिरी और दिगम्बर राजेंद्र भारती को कारोबारी महंत का जिम्मा दिया गया है। गुरुवार को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी व अखाड़ा सचिव श्रीमहंत लखन गिरी ने कार्यकारिणी और कारोबारी महंतों को शपथ दिलाई । कार्यकारिणी के गठन और शपथ ग्रहण में देश-विदेश से आए मठाधीश शामिल हुए। श्रीमहंत नरेंद्र गिरी ने बताया कि कार्यकारिणी का गठन छह वर्ष के लिए किया गया है। कार्यकारिणी में से ही अखाड़ा अध्यक्ष का चयन जल्द कर लिया जाएगा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नई कार्यकारिणी एवं का कारोबारी महंतों को बधाई दी है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी की कार्यकारिणी की चुनाव प्रणाली की प्रशंसा करते हुए कहा इस तरह की चुनाव प्रणाली अखाड़ों में भारतीय संविधान बनने से पहले ही मौजूद थी। उन्होंने आगे कहा अखाड़ों में लोकतंत्र की प्रणाली तभी से ही विद्यमान है जब विश्व लोकतंत्र के बारे में जानकारी भी नहीं रखता था। पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी का मुख्यालय हरिद्वार में स्थित है। इसलिए धर्म नगरी के संतों , एवं बुद्धिजीवियों में भी खुशी की लहर है। हरिद्वार के संतों ने भी कार्यकारिणी को बधाई दी है। वहीं एसएमजेएन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ सुनील कुमार बत्रा ने नई कार्यकारिणी के चुने जाने पर अत्यंत हर्ष व्यक्त किया है।

21

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *