केबल के बढ़े दामों को वापस लेने की मांग की

हरिद्वार – महानगर व्यापार मण्डल के जिला अध्यक्ष सुनील सेठी ने केबल व पेयजल के बढ़े दामों को वापस लेने की मांग की है। प्रैस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए सुनील सेठी ने कहा कि मनोरंजन कर के नाम पर उपभोक्ताओं को परेशान किया जा रहा है। केबल आपरेटर मनमाने ढंग से उपभोक्ताओं से बढ़े हुए दामों की मांग कर रहे हैं। केबल संचालन को बंद कर दिया गया है। जिससे लोग परेशान हैं। पूर्व में उपभोक्ताओं को सभी चैनल देखने के लिए डेढ़ सौ से दौ सौ रूपए प्रतिमाह चुकाने होते थे। जिसे बढ़ाकर अब पांच सौ हजार रूपए प्रतिमाह तक किया जा रहा है। जिससे लाखों उपभोक्ताओं में भारी रोष व्याप्त है। इसके पूर्व सैट टॉप बॉक्स लगाए जाने के नाम पर उपभोक्ताओं से दो-दो हजार रूपए तक वसूले गए थे। अब सभी सैट टॉप बॉक्स बंद कर दिए गए हैं। उपभोक्ताओं से पैकेज के नाम पर मनमाने पैसे वसूलने की तैयारी की जा रही है। कुछ समय पूर्व मनोरंजन कर बेहद कम था। लेकिन अब इसे एकदम से बढ़ाकर दस गुना कर दिया गया है। सभी चैनलों के अलग-अलग शुल्क लगाकर जनता पर भारी बोझा डाला जा रहा है। जिसे जनता कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। सामाजिक कार्यकर्ता विनय श्रोत्रिय, जितेंद्र चैरसिया एवं तरूण व्यास ने कहा कि उत्तराखण्ड में जनता को पेयजल नि:शुल्क मिलना चाहिए। लेकिन पेयजल बिलों में प्रतिवर्ष भारी बढ़ोतरी कर जनता को परेशान किया जा रहा है। उत्तराखण्ड में जहां से गंगा का उद्गम होता है। वहां पेयजल के बढ़े हुए दामों को वापस लेना चाहिए। साथ ही जनता को राहत देते हुए मनोरंजन कर को माफ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि जल्द से जल्द मनोरंजन कर व पेयजल के दामों में जनता को राहत नहीं दी गयी तो आंदोलन करने को बाध्य होना पड़ेगा। प्रैसवार्ता के दौरान तेज प्रकाश साहू, गोपाल प्रधान, प्रीत कमल, नाथीराम, नवीन, पंकज ममगाई, संजय मेहता, दीपक पाण्डेय, अनूप मेहता, पंकज माटा, ऋषभ वशिष्ठ, राजेश सुखीजा, अरूण प्रकाश राघव आदि भी मौजूद रहे।

45

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *