हरिद्वार से संत महन्तों का जत्था 18 फरवरी को राम मंदिर निर्माण के लिए करेगा अयोध्या कूच : स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी

हरिद्वार- जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के आह्वान पर 21 फरवरी को अयोध्या में भगवान राम लला के मंदिर निर्माण हेतु पूजन किया जाएगा। जिसके लिए हरिद्वार से भारत साधू समाज के वरिष्ठ राष्ट्रीय उपाध्यक्ष स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी और राष्ट्रीय प्रवक्ता स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज के सानिध्य में करीब 200 संत महन्त दंडी स्वामियों का जत्था 18 फरवरी को हरकी पैडी पर मां गंगा की पूजा अर्चना करने के बाद आयोध्या के लिए कूच करेगा। स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी और स्वामी ऋषिश्वरानंद महाराज ने संयुक्त बयान में बताया कि अब आयोध्या में भगवान श्रीराम लला के मंदिर निर्माण के लिए भारत का समस्त संत समाज एकजुट हो चुका है और सभी धर्माचार्य चाहते हैं कि अब आयोध्या में भगवान श्रीराम लला के मंदिर निर्माण में कतई देरी नहीं होनी चाहिए। अभी हाल में प्रयागराज अर्धकुंभ मेले में भी राम मंदिर के निर्माण हेतु कई संत महापुरूषों ने अपने-अपने अखाडो-आश्रमों और धर्म संसदों में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा जोर-शोर से उठाया। भारत की सर्वोत्तम संस्था अखिल भारतीय अखाडा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहन्त नरेंद्र गिरी महाराज भी अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए कई बार बैठक कर संत-महापुरूषों के साथ चर्चा कर चुके हैं।
स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी ने बताया कि भगवान श्रीराम हम सभी के आराध्य हैं। उनका कहना है कि देश का समस्त संत समाज करोड़ों हिन्दुओं की आस्था का केंद्र माने जाने वाले भगवान श्रीराम लला के मंदिर निर्माण हेतु चिंतित हैं। उन्होंने कहा कि देश का कानून अपना काम कर रहा है और हम कानून का सम्मान करते हैं। परंतु आयोध्या में भगवान श्रीराम लला के मंदिर निर्माण में जो देरी हो रही है, उससे देश के सभी धर्मगुरू और धर्माचार्य चिंतित हैं और अब शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के आह्वान पर 21 फरवरी को संत समाज आयोध्या में कूच करने जा रहा है।

31

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *