दिव्यांशी दत्त मर्डर मिस्ट्री की गुत्थी को सुलझाने में जुटी पुलिस

शारिक खान

मुज़फ्फरनगर

मुजफ्फरनगर में एक पखवाडे पूर्व कपडे की गठरी में मिला महिला के शव की शिनाख्त के बाद अब पुलिस महिला की हत्या की गुत्थी को सुलझाने में जुट गयी है। मोबाईल कॉल डिटेल, बीटीएस, सोशल एकाउन्ट व फिंगर प्रिन्ट आदि के माध्यम से पुलिस हत्यारों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। दरअसल थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम युसुफपुर के लिंक मार्ग पर गत 5 सितम्बर को खेत में मिले महिला के शव की शिनाख्त परिजनों ने गुरूवार को थाने पहुंचकर 27 वर्षीय दिव्यांशी दत्त के रूप में हुई थी। मेरठ निवासी महिला तलाक के उपरांत परिवार से अलग रह रही थी। दिव्यांशी कानून की शिक्षा प्राप्त कर दिल्ली व मेरठ में रह रही थी। परिजनों के अनुसार दिव्यांशी का फ्रैन्ड सर्किल काफी बडा था। दिव्यांशी की हत्या क्यो हुई तथा हत्या कर शव को भोपा थाने से मात्र तीन किलोमीटर की दूरी पर क्यों फेंक दिया गया था? दिव्यांशी के शव के पास मिली बीयर की बोतलें हत्यारों के इरादों को जाहिर करती है। जिस बैडशीट व कम्बल में दिव्यांशी के शव को बांधा गया था, मृतका की बहनों ने उन्हें दिव्यांशी के होने से इंकार किया है। दिव्यांशी की हत्या किस स्थान पर हुई? उसके शव को भोपा क्षेत्र में क्यों डाला गया? क्षेत्र में दिव्यांशी का हत्यारा मौजूद है या दिव्यांशी की हत्या के तार मुजफ्फरनगर व भोपा क्षेत्र से जुडे हैं। पुलिस प्रत्येक कोण पर गहनता से जांच कर रही है तथा दिव्यांशी की हत्या की गुत्थी को शीघ्र सुलझाने के प्रयास में जुटी है।

39

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *