शुगर मिल चलाने से पहले काश्तकारों का शत-प्रतिशत भुगतान करें मिल

आशीष कुमार

बागपत – डीएम शकुन्तला गौतम ने पेराई सत्रा 2019 -20 में चीनी मिल संचालन से पूर्व समस्त बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के संबंध् में समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा जो चीनी मिल के स्वामी गन्ना भुगतान नहीं करेंगे उनके मिल नहीं चलने दिया जाएंगे और उनके प्रति कार्यवाही की जाएगी। इसलिए काश्तकारों का भुगतान समय से करें इसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।डीएम ने मलकपुर शुगर मिल को आरसी जारी की तो मलकपुर ने एक दिन में 48 करोड़ का भुगतान कर दिया जिससे किसानों को कुछ राहत मिली है। डीएम से मिल संचालकों ने सितंबर माह में गन्ना बकाया भुगतान का करने का आश्वासन दिया है जिसमें बागपत मिल ने 6.50 करोड़ रमाला ने 8 करोड़ मलकपुर ने 60 करोड़ बकाया गन्ना मूल्य का भुगतान किए जाने का आश्वासन दिया है। डीएम ने कहा कि इस महा अगर यह भुगतान नहीं होता है तो आपके मिल के प्रति कार्रवाई निश्चित है। और आरसी जारी की जाएगी। पेराई सत्रा 2018 -19 गन्ना मूल्य भुगतान एवं विशेष की स्थिति जनपद में निम्न प्रकार है जनपद बागपत में 3 मील कार्यरत हैं जिसमें बागपत देय गन्ना मूल्य 15126.28 लाख रुपए भुगतान 11548.44 लाख रुपए, अवशेष 3577.84 लाख रुपए है। बागपत, रमाला ,मलकपुर चीनी मिल पर कुल देय गन्ना मूल्य 72096. 073लाख रुपए, अब तक भुगतान 48187 .34 लाख रुपए, काश्तकारों का अवशेष 239009.39लाख रुपए है। डीएम ने जल्द से जल्द भुगतान कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि काश्तकार को भुगतान के प्रति समस्या नहीं उठानी पड़े। इसलिए चीनी मील बागपत व रमाला के प्रतिनिध्यिों को भी बकाया गन्ना मूल्य के त्वरित भुगतान करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गन्ना मूल्य के त्वरित भुगतान किया जाए। नही तो मिल पर आरसी जारी की जाएंगी और कार्यवाही भी की जाएगी। चीनी मिल प्रतिनिध्यिों को चीनी मिलों की आॅपफ सीजन मरम्मत कराकर समय से पेराई कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए गए। चीनी मिल बागपत द्वारा 25 अक्टूबर 2019 , मलकपुर द्वारा 15 अक्टूबर 2019 से पेराई सत्रा 2019- 20 का प्रारंभ करने का आश्वासन दिया गया। इस अवसर पर जिला गन्ना अध्किारी अनिल कुमार भारती, डिप्टी कलेक्टर राम नयन, चीनी मिल प्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे

30

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *