बीमार पत्नी को जिला अस्पताल में भर्ती करा कर भाग गया ट्रक चालक

आलम वारसी

मुरादाबाद। सात फेरे लेकर सात जन्मों तक साथ निभाने का वादा करने वाला पति ही बीमार अमनप्रीत को जिला अस्पताल में भर्ती कराकर जिंदगी और मौत से लड़ने के लिए छोड़ गया। फिलहाल जिला अस्पताल का स्टाफ ही महिला की सेवा कर रहा है।
जिला अस्पताल में भर्ती 40 वर्षीय अमनप्रीत सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के हरथला की रहने वाली है। उसका पति रंजीत सिंह ट्रक ड्राइवर है। अमनप्रीत शुगर की मरीज है। करीब 20 दिन पहले उसके शरीर के निचले हिस्से ने अचानक काम करना बंद कर दिया। इस पर रंजीत सिंह ने अमनप्रीत को जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती करा दिया। उस समय अमनप्रीत का 10 साल का बेटा भी साथ था। अमनप्रीत ने बताया कि अगले ही दिन उसका पति इलाज के लिए पैसों का इंतजाम कर करने के लिए कह कर चला गया। बेटा भी उसी दिन से गायब है। 19 दिन हो गए मगर अमनप्रीत के पास कोई की तीमारदार नहीं है। वह अकेली ही इमरजेंसी के बेड नंबर 10 पर पड़ी हुई पति और बेटे के लौटने की राह देख रही है।
बीमार अमनप्रीत का पति ट्रक चालक है। वह हरथला में किराए के मकान में पति और बेटे के साथ रहती है। उसकी एक बेटी भी है, जिसकी शादी हो चुकी है। अमनप्रीत को इस समय मदद की बेहद जरूरत है। बीमारी के चलते उसके परिवार वालों ने भी किनारा कर लिया है। ऐसे में यदि कोई सामाजिक संगठन आगे आकर अमनप्रीत की मदद करें तो उसकी जान बचाई जा सकती है।

34

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *