ग्राम वासियों ने लगाई डीएम से जांच की गुहार

आलम वारसी

मुरादाबाद – मुरादाबाद गटोरा थाना मूंढापांडे के ग्राम वासियों ने कलेक्ट्रेट पर एकत्र होकर डीएम साहब को ग्राम प्रधान के खिलाफ एक शिकायती पत्र सोफा शिकायती पत्र में कहा गया कि ग्राम प्रधान व पंचायत सचिवों ने वर्ष 2015/ 16 से लेकर वर्ष 2019 तक ग्राम विकास निधि की अधिकांश धनराशि को विकास कार्यों में खर्च ना करके फर्जी कार्य पूर्ति दर्शन कर लिया है जिसकी मौके के अनुसार बिंदु वाली एक्रॉस जांच होनी जनहित में अति आवश्यक है/ग्राम वासियों का कहना है कि भारत सरकार की मनरेगा योजना में श्रमिकों द्वारा दो-तीन दिन कार्य कराकर 14 दिन की फ़र्ज़ी हाज़री व मश्टोल भरवा कर उक्त योजना के सरकार द्वारा अमुक्त की गई सरकारी धनराशि को सचिव एवं ग्राम प्रधान एवं ग्राम प्रधान के निजी व्यक्ति से हमसाज़ हिकर बंदरबांट कर लेते हैं तथा ग्राम पंचायत में योजना के अंतर्गत जो भी पक्के विकास कार्य होते हैं उससे भी मिस्त्री एवं मजदूरों की फर्जी हाजिरी भरवा कर तथा फर्जी बिल इत्यादि लगवा कर कागजों को तैयार कर फर्जी कार्य पूर्ति दर्शा कर उस योजना के अंतर्गत धनराशि का गबन कर लिया जाता है ग्राम पंचायत गतोरा में लगभग 250 शौचालय के निर्माण हेतु ग्राम विकास निधि में शासन द्वारा जो भी धनराशि अवमुक्त की गई थी उसका भी अधिकार गबन कर लिया गया है लगभग 100 शौचालय में घटिया सामग्री लगाई गई है तथा मानक के अनुसार नहीं बनवाए गए। ग्राम गतौरा में प्रधानमंत्री आवासो की शासन के द्वारा स्वीकृति की गई थी जिसकी धनराशि लाभार्थियों के खाते में आई थी लेकिन प्रधान पति ने लाभार्थियों को डरा धमका कर30 30 हज़ार रुपये एठ लिए। शासन के द्वारा वर्ष 2015/ 16 से लेकर वर्ष 2019 से 20 तक की और मुक्त धनराशि को उप प्रधान एवं सचिवों के द्वारा 2 रास्तों अथवा एक दो नाली के अलावा कोई निर्माण नहीं किया गया है जो कि मानकों के अनुसार नहीं है सभी ग्रामवासी जिला अधिकारी मुरादाबाद से मांग करते हैं कि इस पूरे प्रकरण की निष्ठा से जांच कराई जाए और दोषी ग्राम प्रधान के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए।

49

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *