जिला जेल से म्यांमारियों समेत सभी मोहतमिमों की कोर्ट में पेशी

Pankaj Kumar

शामली :—- म्यांमार के रोहिंग्या को शरण देने के आरोप में जेल भेजे गए मदरसा दारूल उलूम के मोहतमिम की जमानत अर्जी  जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने खारिज कर दी है। बाकी मोहतमिम की अगली तारीख लगा दी गई। कोर्ट में सभी म्यांमारियों समेत मोहतमिमों को भी कड़ी सुरक्षा के बीच पेशी पर लाया गया था। पेशी के बाद सभी को पुन: जेल भेज दिया गया है। गुरूवार को मुजफ्फरनगर जिला कारागार में बंद मदरसा मिफ्ताहुल उलूम के संचालक मौलाना हफीयुल्ला, मदरसा अशरफिया के संचालक कारी अशरफ व मदरसा
दारूल उलूम के संचालक मौलाना वासिफ सहित म्यांमार निवासी अब्दुल मजीद, नौमान अली, रिजवान खान तथा फुरकान हुसैन को कैराना स्थित मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के यहां पेशी पर लाया गया। उनकी कोर्ट में हाजिरी की तारीख थी। म्यांमारियों के कोर्ट में पेशी पर लाए जाने की सूचना के चलते कोर्ट परिसर में पुलिस अलर्ट हो गई। इस दौरान पुलिस ने संदिग्ध युवकों की तलाशी ली और आसपास में भीड़ नहीं जुटने दी गई। कड़ी सुरक्षा के बीच सभी सातों आरोपियो को कोर्ट में पेश किया गया। डीजीसी संजय चौहान ने बताया कि जिला न्यायालय में मदरसा दारूल उलूम के मोहतमिम मौलाना वासिफ की जमानत अर्जी पर सुनवाई हुई, जिसे जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिवमणि शुक्ल ने खारिज कर दिया है। बताया जाता है कि पूर्व में मदरसा अशरफिया के संचालक कारी अशरफ की 26 तारीख लगी हुई है। जबकि मदरसा मिफ्ताहुल उलूम के मोहतमिम मौलाना हफीयुल्लाह की पहले ही 26 अगस्त तारीख लगी हुई है। म्यांमारियों की ओर से कोर्ट में जमानत अर्जी दाखिल नहीं होना बताया जा रहा है। कोर्ट में पेशी के बाद सभी सातों आरोपियों को पुन: जेल भेज दिया गया। बता दें कि गत 28 जुलाई को जनपद की खुफिया इकाई और थानाभवन पुलिस ने जलालाबाद में स्थित खुशनुमा कॉलोनी में संयुक्त रूप छापेमारी कर अवैध रूप से रह रहे म्यांमार निवासी अब्दुल मजीद, नौमान अली, रिजवान खान व फुरकान हुसैन को गिरफ्तार किया था। इसके बाद आरोपितों से पूछताछ के बाद उन्हें शरण देने के आरोप में उक्त चारों मदरसा संचालकों को हिरासत में ले लिया था। पुलिस ने सातों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें कोर्ट में पेश किया था, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया था।

फाइल फोटो

66

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *