जलेबी में डलने वाले रंग से बनता था पेट्रोल, लाखो लीटर नकली पेट्रोल सहित 9 गिरफ्तार

रवि उपाध्याय

मेरठ – सावधान! कहीं आप अपने वाहन में पेट्रोल की जगह जलेबी में डालने वाला रंग तो नहीं डलवा रहे ? जी हाँ, चौक गए ना आप , कि हम ऐसा क्यों कह रहे हैं? दरअसल मामला ही कुछ ऐसा है , जिसे सुनकर आप भी सन्न रह  जाएंगे। क्योंकि मिलावटखोरों ने पेट्रोल पंपों पर अब पैट्रोल की जगह जलेबी का रंग मिलाकर केमिकल बेचना शुरू कर दिया है। इस बात का खुलासा तब हुआ जब आईजी रेंज आलोक सिंह के आदेश के बाद एसएसपी अजय साहनी के निर्देशन में बनी टीम ने परतापुर में दो गोदामों पर छापा मारकर नकली पेट्रोल बनाने के गोरखधंधे का भंडाफोड़ करते हुए 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। छापेमारी में पुलिस ने 2 लाख 10 हजार लीटर केमिकल और 10 हजार लीटर निर्मित नकली पेट्रोल बरामद किया और साथ ही पुलिस ने नकली पेट्रोल सप्लाई करने वाले टैंकर को भी कब्जे में ले लिया है।

जहां एक तरफ देश में पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों से उपभोक्ता की जेब पर मार पड़ रही है वहीं दूसरी ओर कुछ मिलावट खोर नकली पेट्रोल बनाकर उपभोक्ताओं पर दोहरी मार मार रहे हैं। एक गुप्त सूचना के आधार पर मेरठ के आईजी रेंज आलोक सिंह ने एसएसपी मेरठ के निर्देशन में एक टीम तैयार कर नकली पेट्रोल बनाने के गोरखधंधे का भंडाफोड़ करने के आदेश दिए । इस पूरे मामले में पुलिस ने छानबीन करते हुए गोपनीय सूचनाओं के आधार पर बीती रात दो ऐसे गोदामों पर छापा मारा जहां पर केमिकल के द्वारा नकली पेट्रोल बनाया जाता था ।

पुलिस ने जब मौके से पकड़े गए आरोपियों से नकली पेट्रोल बनाने के तरीकों को जानने का प्रयास किया तो जो खुलासा हुआ वो सुनकर क्राइम ब्रांच की टीम भी सकते में आ गई। जब उन्हें गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि वह किस तरीके से जलेबी में मिलाने वाले रंग को एक केमिकल (थिनर) में मिलाकर पेट्रोल जैसा दिखने वाला केमिकल तैयार कर लिया करते थे जिसके बाद उसे पेट्रोल पंपों पर सप्लाई कर दिया जाता था। आरोपियों ने पुलिस के सामने ही केमिकल से नकली पेट्रोल बनाने का तरीका दिखाते हुए नकली पेट्रोल बनाकर भी दिखाया। इस पूरे छापेमारी में पुलिस ने कुल 9 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में केमिकल भी बरामद किया जिसकी मात्रा 2 लाख 10 हजार लीटर बताई गई। मौके से पुलिस को लगभग 3 किलो वह रंग भी मिला है जिसकी सहायता से केमिकल को नकली पेट्रोल में बदल दिया जाता था। फिलहाल पुलिस सभी अभियुक्तों से पूछताछ में जुटी है। पुलिस का कहना है आरोपियों से पूछताछ के बाद इसमें अभी और खुलासे होने की उम्मीद है

78

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *