बुखार में हेल्पर के द्वारा लगाया गया इंजेक्शन – 11 साल की बच्ची की हुई मौत पर हंगामा – आयुवेद का डॉक्टर अंग्रेजी दवाइयों से करता है उपचार

Hariom giri

रुड़की – भगवानपुर के गोयल क्लिनिक नाम के एक अस्पताल में लापरवाही के चलते 11 साल की मासूम बच्ची की जान चली गई है सूत्रों के मुताबिक शाहपुर निवासी 11 साल की बच्ची सोफिया को बुखार के चलते गोयल क्लिनिक में भर्ती कराया गया था उस समय अस्पताल में डॉक्टर मौजूद नही थे इसीलिए करीब आठवी तक पढ़े उनके हेल्पर ने बच्ची को गुलकोस लगाने के साथ एक इंजेक्शन भी लगाया जिसके बाद बच्ची की हालत बिगड़ गई और कुछ देर में ही बच्ची ने दम तोड़ दिया बच्ची की मौत की खबर लगते ही बच्ची के परिजन भड़क गए और उन्होंने अस्पताल में जमकर हंगामा किया 

सूत्रों के मुताबिक अस्पताल में हंगामे की खबर पाकर डॉक्टर संजीव गोयल भी अस्पताल पहुंच गए घंटो चले हंगामे के बाद बच्ची के परिजन कानूनी कार्यवाही करने के लिए तैयार हो गए लेकिन बच्ची का पोस्टमार्टम कराने के लिए तैयार नही हुए जिसके बाद दोनों पक्षो में समझौता हो गया और बच्ची के परिजन बच्ची के शव को लेकर वापस लौट गए 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अस्पताल के डॉक्टर संजीव गोयल आयुर्वेद के डॉक्टर है और मरीजो का उपचार अंग्रेजी दवाइयों से करते है जिनकी शायद उनके पास अनुमति नही होगी इस अस्पताल में इस तरह की कई घटनाये हो चुकी है लेकिन स्वास्थ विभाग की तरफ से कोई कार्यवाही नही की गई 
11 साल की बच्ची की मौत के मामले में जब हमने सीएमओ हरिद्वार से 11 बेड वाले इस गोयल क्लिनिक के बारे में जानकारी चाही तो उनका कहना है कि में गोयल क्लिनिक के बारे में जानकर कर लेता हूँ मेरी जानकारी में ऐसा मामला पहली बार ही आया है अगर कुछ भी गलती पाई जाती है को कार्यवाही की जायेगी 
हमने घटना के बारे में डॉक्टर संजीव गोयल से फोन पर बात की तो उनका कहना था की बच्ची अस्पताल में भर्ती कराई गई थी में उस समय अस्पताल में नहीं था इसीलिए अस्पताल के लड़को ने ही उसका उपचार किया जब में नहीं होता तो लड़के ही उपचार करते है बच्ची की हालात काफी खराब थी उसके परिजन आखरी समय में उसे अस्पताल लेकर आये थे इसीलिए उसकी मौत हो गई हमने डॉक्टर से पूछा की आप आयर्वेद के डॉक्टर है और अंग्रेजी दवाइयों से उपचार करते है तो उनका कहना था की कई मरीजों को अंग्रेजी दवाइयां भी दे दी जाती है 

66

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *