जानिये पूरी खबर —— शामली से चार घुसपैठिए गिरफ्तार, मौलवी व छात्र बनकर रह रहे थें मदरसो में

पंकज कुमार

शामली — शामली पुलिस ने मौलवी और छात्र बनकर मदरसों में रहने वाले चार विदेशी घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है आरोपियों के कब्जे से देश की नागरिकता संबंधित दस्तावेज भी बरामद हुए हैं पुलिस को आरोपियों को संरक्षण देने के आरोप में मदरसों का संचालन कर रहे तीन लोगों को भी हिरासत में ले लिया है। फिलहाल सभी छ: आरोपियों को पुलिस ने मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया है। पुलिस ने सभी आरोपियो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है ।

भारत में अवैध तरीके से घुसपैठ कर देश की आंतरिक सुरक्षा को खोखला करने वाले यें संदिग्ध विदेशी जलालाबाद के मदरसों में छिपकर रह रहे थे इनमें से एक अब्दुल मजीद जलालाबाद के मदरसा अशरफिया में बतौर मौलवी बच्चों को पढ़ाता था। जिसने नौमान अली नाम के एक शख्श को बतौर छात्र अपने पास रखा हुआ था। अब्दुल मजीद ने जलालाबाद के मदरसा मिफ्ताउल उलूम में छात्रों के रूप में रिजवान और फुरकान को भी ठहरा रखा था । इन दोनों को भी जनपद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सभी गिरफ्तार घुसपैठिए म्यांमार के रहने वाले हैं, जो अवैध रूप से यहां पर ठहरे हुए थे । पुलिस ने साथ ही तीन मदरसा संचालकों को भी गिरफ्तार किया है। मौलाना हफीउल्ला , कारी वासिफ व मौलवी असरफ हुसैन को भी गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल सभी लोगो को मेडिकल परीक्षण के लिए सीएचसी में भेज दिया है और आगे की जांच पड़ताल शुरू कर दी है ।

म्यांमार के अब्दुल मजीद और उसके साथ रहने वाले नौमान के बारे में मदरसा अशरफिया के कारी सब कुछ जानते थे. इसके अलावा मदरसा मिफ्ताउल उलूम के मोहतमीम मौलाना हफीयुल्ला को भी अपने यहां पढ़ रहे दोनों छात्रों के विदेशी होने और यहां अवैध रूप से ठहरने की जानकारी थी.
पुलिस ने सभी छह आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 समेत विदेशी अधिनियम की धारा 14 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों के कब्जे से भारतीय नागरिकता के दस्तावेज, सच छिपाकर बनवाए गए शरणार्थी दस्तावेज, भारतीय रूपया, म्यांमार रूपए, एटीएम, फोन भी बरामद किए गए हैं

47

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *