शामली का शिव चौक पर अब नही होगा गुलजार

पंकज कुमार

उत्तर प्रदेश / शामली – शामली का जिगर कहा जाने वाला शिव चौक अब पहले जैसा गुलजार नहीं होगा। मंदिर श्री हनुमान सेवा समिति ने शिव चौक पर कराई गई इस सा जो सजावट को उतारना शुरू कर दिया गया है और जो मंदिर समिति ने मंदिर की सजावट के लिए लाइट, झालर और रात्रि में हरिद्वार से गंगाजल लेकर आने वाले शिव भक्तों के लिए डीजे पर डांस की जो व्यवस्था की गई थी उसको भी समिति द्वारा आज से पूर्णता बंद किया जा रहा है।

दरअसल आपको बता दें कि श्री मंदिर हनुमान सेवा समिति की तरफ से पिछले 15 16 सालों से लगातार हरिद्वार से गंगाजल लेकर आने वाले शिव भक्तों के लिए शहर का जिगर कहे जाने वाले शिव चौक पर तरह-तरह के प्रसाद की व्यवस्था की जाती है और बोलो को प्रसाद खिलाया जाता है तो वही शिव चौक को पूरे दुल्हन की तरह सजाया जाता है और इसके लिए कई दिन पहले से तैयारियां शुरू कर ली जाती है शिव चौक से लेकर विकी मोड तक दोनों तरफ लाइटें लगाई जाती है मंदिर को लाइट और झालरों से सजाया जाता है जिसकी सुंदरता देखते ही बनती है और शिव चौक पर समिति द्वारा डीजे की व्यवस्था भी की जाती है जिस पर हरिद्वार से जल लेकर आने वाले भोले परिक्रमा कर डीजे भोले के गानों पर झूमते और थिरकते हैं इस दौरान वहां के इस भव्य प्रोग्राम को देखने के लिए शहर और आसपास के गांव से भी लोग इकट्ठा होते हैं हर बार की तरह इस बार भी श्री मंदिर हनुमान सेवा समिति की तरफ से शिव चौक को दुल्हन की तरह सजाया गया था और प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा था लेकिन शिव चौक पर स्थित सुभाष चौक की मूर्ति पर एक मेडिकल कैंप लगाया गया है जिसकी वजह से श्री हनुमान सेवा समिति ने आज से कोई भी प्रोग्राम करना मना कर दिया है और सड़क के दोनों तरफ लगाई गई मंदिर समिति की तरफ से लगाई गई लाइटों को उतारा जा रहा है जब इस बारे में हमने मंदिर समिति के सदस्य से बात की तो उन्होंने कहा जहां पर पहली बार एक मेडिकल कैंप लगाया गया है जिसकी वजह से थोड़ी हमें दिक्कत हो रही थी और उन्होंने हमें परेशान करने के लिए बाधित किया जिस कारण हम जा रहे हैं कि आपस में कोई तनाव नए बने जिस वजह से हम यह कैंप बंद करना चाह रहे हैं ताकि आपस में कोई मनमुटाव ना बने क्योंकि वह भी शहर के बाशिंदे हैं और हम भी हैं और हम चाहते हैं कि शहर में संपूर्ण सौहार्द के साथ यह पर्व मनाया जाए।

क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि शिव चौक पर स्थित सुभाष चौक की मूर्ति पर पहली बार एक मेडिकल कैंप लगाया गया है जिसमें की मेडिकल कैंप लगाने वाले लोगों ने मंदिर समिति से लाइट देने की मांग की थी जिस पर मंदिर समिति राजी हो गई थी लेकिन उसके बावजूद मंदिर समिति के कुछ लोगों के साथ कैंप संचालकों की कहासुनी हो गई जिसके बाद वहां पर मौजूद लोगों ने मामला शांत भी करा दिया था लेकिन बाद में किसी प्रकार का कोई तनाव ना हो इस वजह से मंदिर समिति ने आज से कैंप बंद करने का निर्णय लिया है।

87

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *