कारगिल दिवस पर जहां सेना व विभिन्न संगठन, विजय दिवस के रूप में मनाया

विनीता खुराना

ऋषिकेश — हिंदुस्तान में मनाये जा रहे कारगिल दिवस पर जहां सेना व विभिन्न संघठन विजय दिवस के रूप में मना रहा है वही ऋषिकेश में एक शहीद का परिवार जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा पर क्षुब्ध है।
वर्ष 1999 में जम्मूकश्मीर के कारगिल में पाकिस्तानी घुसपैठियों के साथ हुए ऑपरेशन कारगिल के तहत कई वीर जवानों के अपनी शहादत देकर देश के रक्षा के लिये अपना बलिदान दिया था, उस दौरान देश मे देश भक्ति का सैलाब ऐसा उठा कि हर नागरिक में देश रक्षा का जज़्बा जाग गया था, लेकिन समय के साथ-साथ आज शहीदों की शहादतों को भुला दिया गया है, जिसके सम्बंध में तीर्थनगरी ऋषिकेश के कारगिल शहीद मनीष थापा के बड़े भाई मनोज थापा ने दुख व्यक्त करते हुए बताया कि आज सुबह से ही जहां देश कारगिल शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए शहीदों की प्रतिमाओं पर फूल-मालाएं पहनाकर देशभक्ति के प्रति अपने भाव प्रकट कर रहे है वही ऋषिकेश के एक मात्र कारगिल शहीद मनीष थापा को सुबह से ही श्रधांजलि देने कोई नही पहुँचा और उसने स्वयं व साथ मे नायब सूबेदार के साथ मिलकर छोटे भाई मनीष थापा की प्रतिमा पर पहुँच कर साफ-सफाई कर फूल-माला अर्पित कर श्रधांजलि दी है।

36

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *