कैंट उपाध्यक्ष मोहन नेगी चुने गए नए सभापति

अल्मोड़ा – सहकारी श्रमिक संघ को-ऑपरेटिव ड्रग फैक्ट्री के आम चुनावों में कैंट बोर्ड रानीखेत के उपाध्यक्ष मोहन नेगी को अध्यक्ष चुन लिया गया। इससे पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट इस पद पर काबिज थे। नए अध्यक्ष नेगी ने पद को बेहद जिम्मेदारी पूर्ण बताते हुए श्रमिकों की समस्याओं के लिए संघर्ष करने का संकल्प जताया। सहकारी श्रमिक संघ के आम चुनाव में सर्वसम्मति से मोहन नेगी को नया सभापति चुना गया। जबकि, ईश्वरी चंद्र आर्या उप सभापति, खुशाल सिंह डोगरा मंत्री, विकास जोशी संयुक्त मंत्री, हर सिंह रौतेला कोषाध्यक्ष चुने गए। इसके अलावा हरीश प्रसाद, दान सिंह रावत, मदन चंद्र जोशी, यशपाल सिंह डोगरा, हरीश चंद्र नैनवाल कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किए गए। गौरतलब है कि सहकारी श्रमिक संघ के सभापति का पद काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। पूर्व में केंद्रीय मंत्री बची सिंह रावत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट और विधायक करन माहरा सभापति के पद पर आसीन रह चुके हैं। छात्र जीवन से राजनीति में सक्रिय रहे नए सभापति मोहन नेगी का राजनीतिक सफर और अनुभव भी काफी अच्छा रहा है। वर्ष 1988 में वह रानीखेत महाविद्यालय में छात्रसंघ अध्यक्ष चुने गए। साल 2000 और 2005 में लगातार दो बार व्यापार मंडल अध्यक्ष निर्वाचित हुए। 2008 में कैंट बोर्ड सभासद का चुनाव जीतने के बाद 2013 में कैंट बोर्ड उपाध्यक्ष चुने गए। 2015 में नेगी को पुन: छावनी परिषद उपाध्यक्ष चुना गया। रानीखेत जिला और नगरपालिका आंदोलन सहित तमाम आंदोलनों में मोहन नेगी की महत्वपूर्ण भागीदारी रही है। नेगी ने कहा कि वह शीघ्र सभापति का पदभार ग्रहण करने के बाद श्रमिकों की समस्याओं को लेकर हर स्तर पर संघर्ष शुरू करेंगे।

50

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *