किसानों का मिले मुआवजे के चेक बाउंस , किसानों से प्रति चेक बाउंस होने पर दो सौ रुपये की रकम काटी

रुडकी। ओलावृष्टि से नुकसान के मुआवजे के रूप में किसानों को बांटे गए छह लाख रुपये के चेक तहसीलदार के हस्ताक्षर मैच नहीं होने से बैंकों में बाउंस हो गए। बैंकों ने किसानों से प्रति चेक बाउंस होने पर दो सौ रुपये की रकम काट ली। किसानों ने एसडीएम से मिलकर इसकी जानकारी दी। एसडीएम ने बैंक प्रबंधक और तहसीलदार से आख्या मांगी है। पिछले साल बरसात के मौसम में लगते लक्सर क्षेत्र में भारी ओलावृष्टि हुई थी। इससे किसानों की धान की फसल का काफी नुकसान पहंचा था। बाद में तहसील प्रशासन ने ओलावृष्टि से फसल का हुए नुकसान का सर्वेक्षण कराया था। हाल ही में सरकार से बजट मिलने के बाद तहसील प्रशासन ने किसानों को ओलावृष्टि से नुकसान के मुआवजे के चेक बांटे थे। ये सभी चेक एचडीएफसी बैंक की लक्सर शाखा के थे। किसानों ने चेक भुगतान के लिए चेक अपने बैंक खातों में लगाए थे लेकिन एचडीएफसी बैंक ने खाते के प्राधिकृत अधिकारी (तहसीलदार) के साइन चेक पर किए गए हस्ताक्षरों के साथ मैच नहीं होने की टिप्पणी के साथ सारे चेक लौटा दिए हैं। किसान राजकुमार, विजयपाल, जसवीर, जगराम, राजपाल, प्रवीण, चरण सिंह, इच्छाराम, साहब सिंह, रामपाल, शेरसिंह, श्याम सिंह, सुशील संजय आदि ने अपने अधिवक्ता सोनू राठी के साथ एसडीएम से मुलाकात की और उन्हें चेक बाउंस होने की जानकारी दी। किसानों ने बताया कि उन्हें पांच सौ से दो हजार रुपये के चेक मिले हैं और बाउंस होने पर बैंक ने दो-दो सौ रुपये का जुर्माना उनके खातों में से काट लिया है। एसडीएम सोहन सिंह ने बताया कि तहसीलदार और एचडीएफसी बैंक के प्रबंधक को पत्र भेजकर चेक बाउंस होने के बाबत उनकी आख्या तलब की गई है। रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी।

26

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *