संवेदनशील भवनों में ताले लगाने गई प्रशासनिक अधिकारियों की टीम बैरंग लौटी

नैनीताल – बलियानाला प्रभावित क्षेत्र हरिनगर के संवेदनशील भवनों में ताले लगाने गई प्रशासनिक अधिकारियों की टीम को बुधवार को वहां से बैरंग लौटना पड़ा। हाईकोर्ट के आदेश के बाद जहां अधिकारियों ने प्रभावित क्षेत्र से बाहर का रुख किया वहीं अपने आवास का सामान बाहर रख रहे लोग उसे अंदर करने लगे।
बीते दिनों प्रशासन ने बलियानाला प्रभावित क्षेत्र के रईस होटल व हरिनगर क्षेत्र में 40 कच्चे भवनों का ध्वस्तीकरण किया था। इनमें रह रहे लोगों को दुर्गापुर विस्थापित कर दिया गया है। दूसरे चरण में यहां हरिनगर के करीब 32 परिवारों के पक्के भवनों में बुधवार को तालाबंदी का कार्यक्रम तय था। सुबह से ही क्षेत्र के लोग यहां मोटर गैराज में एकत्र हो गए। यहां हुई सभा में उन्होंने प्रशासन की ओर से त्वरित दिए नोटिस का विरोध किया। इस दौरान सटे हुए भवनों से एक के सूची में होने तथा दूसरे के न होने पर भी सवालिया निशान लगाए। उधर डीडीए सचिव हरबीर सिंह के नेतृत्व में प्रशासनिक अधिकारी भी हरिनगर पहुंच गए। 12 बजे पहुंची टीम ने इन आवासों पर ताले लगाने के लिए ताले मंगाए। 2 बजे तक उक्त कर्मी के नहीं पहुंचने पर हरबीर ने मातहतों को फटकारा। इसी बीच एक कर्मचारी ताले लेकर पहुंचा। जैसे ही प्रशासन हरिनगर के आवास में ताले लगाने बढ़े अधिकारियों और क्षेत्रवासियों के पास स्टे मिलने की सूचना पहुंच गई। इसके बाद प्रशासनिक टीम वापस चली गई। इसमें एसडीएम विनोद कुमार, ईओ रोहिताश शर्मा, तहसीलदार भगवान सिंह चौहान, पटवारी अमित साह, टीएस लता आर्य आदि मौजूद रहे।

24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *