आईटीबीपी में अंतर सीमांत चटटान आरोहण एवं अवरोहण प्रतियोगिता शुरू

देहरादून – आईटीबीपी अकादमी में आयोजित तीन दिवसीय अंतर सीमांत चटटान आरोहण एंव अवरोहण प्रतियोगिता का शुभारंभ बतौर मुख्य अतिथि अकादमी के निदेशक व महानिरीक्षक पीएस पापटा ने किया। प्रतियोगिता में बल के पांच सीमांत की टीमें प्रतिभाग कर रही हैं। जिसमें सौ से अधिक प्रतिभागी भाग ले रहे हैं। जो चटटान आरोहण एवं अवरोहण की विभिन्न विधाओं में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे।बुधवार को अकादमी के परेड ग्राउंड में आयोजित सीमांत चटटान आरोहण एवं अवरोहण प्रतियोगिता का शुभारंभ भव्य मार्च पास्ट के साथ किया गया जिसकी सलामी बतौर मुख्य अतिथि अकादमी के महानिरीक्षक पीएस पापटा ने ली।

इस मौके पर प्रतियोगिता का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि चटटान आरोहण एवं अवरोहण बल का मुख्य अंग है। क्यों कि पर्वतीय सीमा ही बल का कार्य क्षेत्र है इसलिए इसमे निपुण होना बल के लिए जरूरी होता है। उन्होंने कहाकि हाल में ऐवरेस्ट पर गये आठ लापता पर्वतारोहियो में सात के शवों को भी बल के जवानों ने खोज निकाला जो बल की बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि बल भारत चीन सीमा पर तैनात देश का एक सशक्त व कुशल सीमा सुरक्षा बल है। देश की सुरक्षा के अपने कर्तव्य निर्वहन के लिए दुर्गम पर्वत शिखरों, उंची व कठिन चटटानों का आरोहण एवं अवरोहण इस बल के जवानों का जुनून रहा है। जवानों के कौशल को धार देकर उन्हें प्राकृतिक आपदाओं पर्वतीय क्षेत्रों मे सडक़ दुर्घटनाओं तथा युद्ध जैसी स्थिति के लिए हर समय तैयार रखने के प्रयोजन से यह बल हमेशा अंतर सीमांत प्रतियोगिताओं का आयोजन करता रहा है।

इससे पूर्व अकादमी के उपनिदेशक ब्रिगेडियर डा. राम निवास ने सभी का स्वागत कर प्रतियोगिताओं की जानकारी देते हुए बताया कि प्रतियोगिता के दौरान प्रतिभागी जवान चटटान आरोहण एवं अवरोहण तथा कैजुएल्टी इवैकुएशन की विभिन्न तकनीकों का प्रदर्शन करेंगे। इन तकनीकों में बैलेंस क्लाइविंग, पुरसिक नॉट क्लाइविंग, पीटन क्लाइविंग, जुमार क्लाइविंग, स्पीड क्लाइविंग, टॉप रोप क्लाइविंग तथा सीट रेपलिंग, स्टमक रैपलिंग व पीगी बैक रैपलिंग आदि शामिल किए गये है। प्रतियोगिता के शुभारंभ के मौके पर सिंगल मैन विद सिंलिंग पोल कैरी मैथर्ड, व डबल सिलिंग विद पोल कैरी मैथर्ड प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस मौके पर सेनानी प्रशासन परमिंदर सिंह, सेनानी प्रशिक्षण वेणुधर नायक, सहित अधिकारी, जवान व विभिन्न सीमांतों से आये प्रतिभागी मौजूद रहे।

26

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *