हुस्न के जाल में फंसाकर लोगों को लूटते थे. किन्नर

हरिद्वार – बरेली से परिवार के साथ आ रहे यात्री को श्यामपुर बाहर पीली के पास तमंचे के बल पर लूटने की घटना का श्यामपुर पुलिस ने तीसरे दिन खुलासा कर दिया। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। तीनों आरोपी किन्नर का वेश धारण कर लोगों को लूटने का काम करते थे। आरोपियों के कब्जे से लूटा गया माल बरामद कर लिया गया है।लूट का पता चलते ही पुलिस ने क्षेत्र के सीसीटीवी कैमरे खंगालने शुरू किए। लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। साथ ही इलेक्टॉनिक सर्विलांस की मदद भी ली गई। घटना में किन्नरों की भूमिका सामने आने पर हरिद्वार क्षेत्र और सीमावर्ती क्षेत्र के किन्नरों से पूछताछ शुरू की गई। इस दौरान मुखबिर से पुलिस को पता चला कि आरोपी किन्नर नहीं हैं बल्कि वे किन्नर का वेश धारण कर लूटपाट करते हैं। शनिवार सुबह मुखबिर की सूचना मिलते ही पुलिस टीम तुरंत लाहड़पुर पुल पर पहुंची। जहां तीन लोग खड़े मिले। इससे पहले तीनों कुछ समझ पाते पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और थाने ले आई। पूछताछ में आरोपियों ने अपने नाम दानिश (24) पुत्र मतलूब निवासी काशीराम कालोनी, ब्लाक 38 कमरा नंबर 452, थाना कोतवाली बिजनौर, शहनवाज(19) पुत्र छुट्टन निवासी मौहल्ला खजियान, चांदपुर की चुंगी, थाना कोतवाली बिजनौर, अब्दुल बहाव उर्फ भूरा (27) पुत्र अख्तर, मकान नंबर 55 ब्लाक 5, काशीराम कालोनी थाना कोतवाली बिजनौर बताए। तलाशी में आरोपियों के कब्जे से लूटी गई सोने की चेन, सोने की अंगूठी, वादी का पर्स, आधार कार्ड के साथ ही घटना में प्रयुक्त किया गया चाकू बरामद किया गया। पुलिस ने बताया कि तीनों के कब्जे से किन्नरों की वेशभूषा, नकली बाल, नकली गजरे, महिलाओं के कपड़े आदि सामान बरामद हुआ है।
आरोपी साधारण कपड़े पहनकर घर से निकलते थे। जंगल में जाकर किन्नर का रूप धारण कर सडक़ पर सरेआम आने-जाने वाले वाहन चालकों को अपनी ओर आकर्षित करते थे। जो लोग इनके जाल में फंस जाते थे उन्हें जंगल के अंदर ले जाकर उससे लूटपाट कर लेते थे।

हाफिज गंज, बरेली निवासी यात्री कमल कुमार गुप्ता पुत्र फिरंगी लाल गुप्ता परिवार के साथ हरिद्वार घूमने आ रहे थे। 20 जून सुबह कमल गुप्ता ने बाहर पीली होटल के पास शौच के लिए कार रोकी। परिवार कार के अंदर ही था। कमल शौच के लिए जा रहे थे तो सडक़ के दूसरी ओर चार से पांच किन्नर आए और कमल को तमंचे के बल पर पहाड़ी की ओर ले गए। जहां कमल के गले से चेन, दो सोने की अंगूठी, साढ़े 18 हजार रुपये लूट लिए। किसी तरह जान बचाकर अपनी कार के पास पहुंचे यात्री ने घटना की जानकारी होटल वालों को दी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। लेकिन तब तक आरोपी भाग चुके थे। कमल ने पुलिस को आरोपी किन्नर बताये थे।
थानाध्यक्ष दीपक कठैत, उपनिरीक्षक मनीष नेगी,पूर्णानंद शर्मा, कर्मवीर सिंह व अमनदीपिका, कांस्टेबल प्रवेश खत्री, रमेश सिंह, अजय चौहान, विजयपाल, नीरजपाल, सूरज पाल, दीपक चंद।

25

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *