राजस्व निरीक्षकों ने कार्य बहिष्कार कर सरकार को दी चेतावनी

बागेश्वर – राजस्व निरीक्षक, उप निरीक्षक व सेवक संघ का छह दिवसीय कार्य बहिष्कार पूरा हो गया है। अंतिम दिन कर्मचारियों ने तहसील परिसर में नारेबाजी कर सरकार को चेतावनी दी। उन्होंने नायब तहसीलदार सेवा नियमावली में छह प्रतिशत कोटा अमीनों को देने का निर्णय वापस लेने की मांग की। जल्द समस्या हल नहीं होने पर उग्र आंदोलन करने की बात कही। तहसील परिसर में संघ के कर्मचारियों ने प्रतिदिन सुबह 10 से 12 बजे तक दो घंटे का कार्य बहिष्कार किया। जिसमें जिले के छह राजस्व निरीक्षक, छह रजिस्ट्रार कानूनगो, 38 राजस्व उपनिरीक्षक और 18 राजस्व सेवक सहित सभी 68 कर्मचारी, अधिकारियों ने भागीदारी की। जिलाध्यक्ष जगदीश परिहार ने कहा कि मई में सरकार से गठित मंत्रीमंडलीय समिति ने अमीनों को कोटा देने का एकतरफा फैसला किया। जिसके विरोध में कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार कर सरकार के निर्णय पर विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों का अहित किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर सरकार ने जल्द मांग पूरी नहीं की तो आगे की रणनीति बनाई जाएगी। जरुरत पडऩे पर उग्र आंदोलन भी होगा। इस मौके पर प्रांतीय अध्यक्ष विजयपाल सिंह मेहता, शिवदत्त तेवाड़ी, रमेश चंद्र, दया पंत, कुंदन मेहता, पप्पू लाल, भूपाल मटियानी, किशोर कांडपाल, ख्याली दत्त, पप्पू लाल, रघुवर फर्स्वाण्, राजू परिहार सहित अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

22

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *