राष्ट्रीय आकांक्षा और ज्ञान की वृद्धि के लिए इंस्पायर अवार्ड-मणक की कार्यशाला आयोजित

उत्तरकाशी – जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान बडक़ोट में मुख्य शिक्षा अधिकारी उत्तरकाशी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय आकांक्षा और ज्ञान की वृद्धि के लिए इंस्पायर अवार्ड-मणक की एक कार्यशाला आयोजित की गई। इसमें जिले की यमुनाघाटी के विकासखंड मोरी, पुरोला एवं नौगांव के विज्ञान के 144 अध्यापकों द्वारा प्रतिभाग किया गया।कार्यशाला में मुख्य शिक्षा अधिकारी रमेश चंद आर्य ने कार्यशाला के मुख्य बिन्दुओं को उजागर करते हुए छात्र वैज्ञानिक विचार कैसे विकसित करें। इसके बारे में यहां उपस्थित अध्यापकों को गहनता से इसकी जानकारी दी। साथ ही अध्यापकों से कार्यशाला से सम्बंधित प्रश्न भी किए। इन्सपायर अवार्ड के जनपद समन्वयक सुमन रावत एवं जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान बडक़ोट के प्रवक्ता अरशद अंसारी ने कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए उदाहरणों के द्वारा कार्यक्रम को स्पष्ट किया कि छात्र वैज्ञानिक विचार किस प्रकार विकसित करें। उन्होंने बताया कि यह कार्यक्रम कक्षा 6 से कक्षा 10 के छात्र-छात्राओं के लिए है। कोई भी छात्र अपने नए विचार को विद्यालय में लगे आईडिया बॉक्स में डाल सकते हैं। सम्बंधित अध्यापक उन विचारों को पढक़र छात्रों के साथ प्रतियोगिता करवाये तथा उसमें से नवीन विचार को चुनकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें। छात्र के इन विचारों को विज्ञान एवं तकनीकी विभाग भारत सरकार द्वारा चयन किया जाता है। प्रतिवर्ष 10 लाख विचारों का रजिस्ट्रेशन होता है। जिसमें से एक लाख विचारों का चयन करने के उपरांत अंतिम 60 विचारों का चयन राष्ट्रीय स्तर पर किया जाता है। विज्ञान एवं तकनीकी विभाग भारत सरकार द्वारा छात्र के विचार चयन होने पर दस हजार की धनराशि छात्र को दी जाती है।डाइट प्राचार्य विनोद प्रसाद सिमल्टी द्वारा जनपद की प्रतिभागिता बढ़ाने के साथ छात्रों के नए विचारों को पंजीकृत करने हेतु सभी को प्रयास करने के लिए प्रेरित किया। जिससे समाज को लाभ प्राप्त हो और नव निर्माण को आगे बढ़ाया जाय। कार्यक्रम में डॉ एसडी मिश्रा, उमेश ध्यानी, राम आसरे चौहान, अरविन्द चौहान तथा डॉ सुबोध बिष्ट ने भी कार्यक्रम के सफल संपादन हेतु अपने विचार रखे।

20

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *