सीताराम येचुरी के खिलाफ हरिद्वार में मुकदमा दर्ज

हरिद्वार – सीपीएम नेता सीताराम येचुरी के विवादित बयान के बाद हरिद्वार में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। योग गुरु बाबा रामदेव की शिकायत पर हरिद्वार पुलिस ने धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। हरिद्वार में योगगुरु बाबा रामदेव सहित साधु समाज ने येचुरी के बयान पर आपत्ति दर्ज कराते हुए एसएसपी को तहरीर दी थी। इससे पहले हुई साधु समाज की बैठक में भारत माता मंदिर के संस्थापक पद्मभूषण स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी और योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा कि रामायण और महाभारत को लेकर जो बयान मार्क्सवादी नेता सीताराम येचुरी ने दिया है, उसके लिए उन्हें पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। अगर येचुरी माफी नहीं मांगते हैं तो सरकार को उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल देना चाहिए। शनिवार को भारत माता मंदिर परिसर में मामले को लेकर साधु समाज ने बैठक की। बैठक में साधु समाज ने येचुरी के बयान की कड़ी निंदा कर उनके खिलाफ सरकार से कठोर कार्रवाई की मांग की। बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में पद्मभूषण स्वामी सत्यमित्रानंद गिरी ने कहा कि हिंदू धर्म और हिंदू धर्मग्रंथों का अपमान करने वालों को तोप के गोले से उड़ा देना चाहिए। कहा कि अब अपने धर्म की रक्षा के लिए हिन्दू समाज को जागना होगा।
सीताराम येचुरी के बयान पर भडक़ा हरिद्वार का साधु समाज- बाबा रामदेव ने कहा कि सीताराम येचुरी ने हिंदुओं को हिंसक तथा रामायण-महाभारत को हिंसक बता कर हिंदू धर्म का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि सीताराम येचुरी ने भारतीय संस्कृति पर हमला किया है। सीताराम येचुरी पूरे देश से माफी मांगें या फिर उन्हें केंद्र सरकार हिंदू धर्म के अपमान के लिए गिरफ्तार कर जेल में बंद करे।बाबा रामदेव ने कहा कि कम्युनिस्टों का इतिहास रक्तरंजित रहा है। साधु समाज सीपीएम नेता सीताराम येचुरी की घोर भर्त्सना करता है। उन्होंने आरोप लगाया कि रूस में स्टालिन ने और चीन में मायने साम्यवाद की स्थापना करने के समय लोगों का कत्ल करवाया गया था। बाबा रामदेव ने कहा कि साजिश के तहत सीताराम येचुरी हिंदू धर्म को बदनाम कर रहे हैं। यदि उन्हें हिंदू धर्म ग्रंथों से इतनी ही नफरत है तो वे अपना नाम सीताराम से बदलकर कुछ और रख लें। उन्होंने कहा कि भगवान राम और भगवान कृष्ण किसी एक धर्म के नहीं हैं वे भारतीय संस्कृति के संवाहक हैं। बाबा विनोद गिरी, महामंडलेश्वर हरिचेतनानंद ने येचुरी के बयान को संविधान के खिलाफ बताया। कहा कि देश के करोड़ों हिन्दुओं को विरोध जताकर अपने-अपने क्षेत्र में येचुरी के खिलाफ मामले दर्ज कराने चाहिए।
रामदेव के नेतृत्व में संतों ने एसएसपी को सौंपी शिकायत बैठक के बाद एक प्रतिनिधिमंडल बाबा रामदेव के नेतृत्व में सीसीआर एसएसपी जन्मेजय खंडूरी से मिलने पहुंचा। यहां साधु समाज की ओर से सीताराम येचुरी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने को लेकर एक लिखित शिकायत दी गई। शनिवार की शाम नगर कोतवाली की रोड़ी बेल वाला चौकी में शून्य में मामला दर्ज किया गया है। एसएसपी जन्मेजय खंडूरी ने इसकी पुष्टि की हैयह बयान दिया था येचुरी नेमाकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने बयान दिया था कि रामायण और महाभारत लड़ाई और हिंसा से भरी हैं। यह कहना ठीक नहीं कि हिंदू अहिंसक हैं। जबकि हिंदू के हिसंक होने के कई उदाहरण हैं।

23

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *