दरोगा के खिलाफ नारेबाजी कर मुकदमा दर्ज करने की मांग की

रुडकी – संगठन कार्यकर्ता से मारपीट करने के आरोप में सेवादल कार्यकर्ताओं ने सुल्तानपुर चौकी के दरोगा के खिलाफ कोतवाली में नारेबाजी की। उन्होंने मुकदमा दर्ज करने की मांग की। लेकिन कोतवाल ने ऐसा करने से मना कर दिया। बाद में उन्होंने तहसील मुख्यालय पहुंचकर सीओ लक्सर से पूरे मामले की शिकायत की है। गुरुवार को सेवादल के प्रदेश मुख्य संगठक राजेश रस्तोगी के नेतृत्व में रीना गुप्ता, राजेश शर्मा, तनवीर अली, मेहरबान, इलमचंद चौहान, जमशेद अली, शादाब, आदित्य, मोहन सिंह, ईश्वरचंद आदि कार्यकर्ता कोतवाली पहुंचे और दारोगा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग करने लगे। उन्होंने पुलिस को बताया कि सुल्तानपुर निवासी शादाब अली कांग्रेस सेवादल के कार्यकर्ता हैं। 26 अप्रैल की रात बारह बजे वह बाहर से आए हुए थे और सुल्तानपुर में एक दुकान पर चाय पी रहे थे। आरोप है कि तभी सुल्तानपुर चौकी के दरोगा मौके पर पहुंचे और शादाब के साथ अभद्रता की। आरोप है कि आपत्ति करने पर उससे मारपीट भी की गई। शादाब ने पुलिस व प्रशासन से इसकी शिकायत की थी, परंतु कार्रवाई नहीं हुई। बताया कि कोतवाल ने मारपीट की घटना को गलत बताकर एफआईआर करने से इनकार कर दिया। इस पर कार्यकर्ता भडक़ गए और दरोगा के खिलाफ कोतवाली में ही नारेबाजी शुरू कर दी। बाद में सारे कार्यकर्ता तहसील मुख्यालय पहुंचकर सीओ राजन सिंह से मिले और उन्हें ज्ञापन सौंपकर पूरे मामले की शिकायत की। सीओ ने घटना की जांच कराकर कार्रवाई करने का भरोसा दिया है। उधर, सुल्तानपुर पुलिस चौकी प्रभारी प्रकाशचंद का कहना है कि शिकायतकर्ता कई दिन से आधी रात के बाद सडक़ों पर दिखाई दे रहा था। घटना के दिन उसे रात को बेवजह न घूमने की हिदायत दी गई थी। मारपीट का आरोप गलत है। मामले को राजनीतिक तूल दिया जा रहा है।

27

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *