कॉस्मिक रिवाइवल केंद्र में हीलिंग चिकित्सा पद्धति के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यक्रम आयोजित

हरिद्वार – कनखल के जगजीतपुर में कॉस्मिक रिवाइवल केंद्र में हीलिंग चिकित्सा पद्धति के प्रचार-प्रसार को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया गया। सोमवार को आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि मुनियों द्वारा प्रतिपादित हीलिंग चिकित्सा पद्धति विश्व की सबसे प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। इस पद्धति का ज्ञान प्राप्त कर व्यक्ति ब्राह्मंडीय शक्तियों से प्राप्त सकारात्मक ऊर्जा का उपयोग कर बिना दवाओं के भी स्वस्थ रह सकता है। डॉ. अजय मगन ने बताया कि कॉस्मिक रिवाइवल केंद्र में ब्राह्मंडीय ऊर्जा पर आधारित उपचार की जो विधि विकसित की गयी है। रोगों से पीडि़त मानवता को इसका अवश्य लाभ मिलेगा। महामंडलेश्वर प्रबोधानंद गिरी और बाबा हठयोगी ने कहा कि शरीर के अस्वस्थ होने पर प्रकृति से प्राप्त कर सकारात्मक ऊर्जा का उपयोग कर इसे स्वस्थ बनाया जा सकता है। संजय जैन, उषा जैन, नमित जैन, डा़पूजा मगन, अतुल मगन, शालिनी मगन, गीता मगन ने अतिथियों का स्वागत किया। इस दौरान दक्षिण काली पीठाधीश्वर कैलाशानंद ब्रह्मचारी, कपिल मुनि, महंत कमलदास, शंकरदास, रामेश्वरानंद, महंत जमनादास, हरिचेतनानंद, शिल्पी ग्रोवर, कीर्ति शर्मा, नीतू जैन, अजय जैन, जोहरी लाल जैन, शोभा देवी, शिवानी सैनी, नैना चौधरी, पराग कौशिक, पुरू जैन, गगन साहनी, दामिनी सेठी, सपना, आरती, निधि, अंकुर, संदीप, सन्नी, पूजा, आंचल, राजेश गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

12

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *