दिल्ली में मनाया राजस्थान स्थापना दिवस, राजस्थानी संस्कृति के बिखरे रंग

नई दिल्ली –
देश की राजधानी दिल्ली शनिवार की रात को राजस्थान के रंग में रंग गई। राजस्थान के लोगों ने राजस्थान की संस्कृति, सभ्यता, कला ओर परम्पराओं के इतने रंग बिखेरे कि रंगीन अनुपम छटा की जगमगाहट से हर कोई सराबोर हो गया। राजस्थान के लोक कलाकारों ने लोकगीत, संगीत, नृत्य सहित कलाओं की अनेक प्रस्तुतियां देकर ऐसा समां बांधा की लोग देर रात तक झूमते रहे।
मौका था राजस्थान मित्र मंडल दिल्ली की ओर से 30 मार्च की रात को छत्तरपुर स्थित अध्यात्म साधना केंद्र में आयोजित राजस्थान स्थापना दिवस समारोह का। राजस्थान मित्र मंडल के संस्थापक सदस्य एवं राष्ट्रपति के अंगरक्षक सुखदेवराम मंडा कार्यक्रम में संस्थापक सदस्य कनिष्क यादव ने बताया कि इस बार का राजस्थान स्थापना दिवस इसलिए खास बना, क्योंकि इसमें दिल्ली में कार्यरत राजस्थान के हजारों प्रवासी ओर अलग अलग प्रदेशों के राजस्थानी भी एक साथ एक ही मंच पर जुटे ओर अपनी माटी ओर प्रदेश से जुड़ाव का अनुभव किया। कार्यक्रम में हर आयु वर्ग के लोगों, महिलाओं बुजुर्गों ओर बच्चों ने भाग लिया।
इससे पूर्व विश्व प्रसिद्ध ब्रास बैंड की धुन से पारंपरिक विधि कार्यक्रम की शुरुआत हुई। ततपश्चात अतिथियों ने विधिवत रूप से दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की।
संस्थापक सदस्य निरंजन पोद्दार व अनिल जैन ने मंडल का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए अब तक किए गए कार्यों और भविष्य में किए जाने वाले कामों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि राजस्थान मित्र मण्डल अपनी विकास यात्रा और समाजसेवा से जुड़े कार्य अनवरत जारी रखेगा।

हर क्षेत्र में कामयाब हैं राजस्थानी
समारोह में भाग लेने के लिए राजस्थान सरकार के पूर्व सानिवि मंत्री यूनुस खान भी पहुंचे और प्रवासियों को संबोधित करते हुए इसे कार्यक्रमों को माटी से जुड़ाव बताया। उन्होंने कहा कि चाहे व्यापार हो, समाजसेवा हो, सरकारी सेवा हो या देश की सरहदें हो, हर मोर्चे पर राजस्थानी डटकर खड़े है ओर सफलता के झंडे गाड़ रहे हैं। यह इसलिए मुमकिन है क्योंकि राजस्थानी हर काम ईमानदारी से करते हैं। इस दौरान उद्योगपति फजलुर्रहमान खत्री, प्रवीण शर्मा सहित एम्स, सफदरजंग, लेडी हार्ट्स सहित विभिन्न अस्पतालों में सेवारत राजस्थानियों ओर विभिन्न क्षेत्रों में सेवारत लोगों ने शिरकत की। अंत में सहभोज का आयोजन हुआ, जिसमें हजारों लोगों ने दाल, बाटी, चूरमा का लुत्फ उठाया। कार्यक्रम के अंत में ग्रुप डांस भी किया गया।

विशिष्टता का सम्मान
कार्यक्रम में विशेष योगदान के लिए अग्रणीय रही प्रतिभाओं का भी सम्मान किया गया। इसके तहत डीडवाना के लोगों को भी पुरस्कृत किया गया। पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले डीडवाना के पत्रकार ज़हीर अब्बास उसमानी, मयूर गांधी, हेमंत शर्मा, गुलाम नबी आजाद, इकरामुद्दीन अशरफी व पवन कुमार प्रजापत का सम्मान किया गया। वहीं डीडवाना के खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. गणेश आसोपा, श्रीमती वन्दना, अध्यापक दिनेश वैष्णव, नरपत सिंह राजपुरोहित, दुर्गालाल, भागीरथ, वेद कुमार, पिंटू मीना का भी अभिनन्दन हुआ।

राजस्थानी साफों की धूम
मित्र मंडल के कार्यकर्ता सफेद कुर्ता पजामा ओर जोधपुरी साफे में अतिथियों की अगवानी करते हुए नजर आए। उन्होंने आने वाले प्रत्येक राजस्थानी मेहमान का राजस्थानी परम्परा अनुसार साफा पहनाकर स्वागत किया गया। कार्यक्रम में के सी जैन, जीतमल जैन, संजय उप्रेती, डॉ. मुकेश सक्सेना, डॉ. एच एल रस्करन, पी. मीना सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे।

28

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *