हरियाणा सरकार को कोई खतरा नहीं, पूरा करेगी पांच साल का कार्यकाल — खट्टर

नई दिल्ली —–

तीन कृषि कानूनों को लेकर राजधानी दिल्ली की सीमा पर जारी किसानों के प्रदर्शनों के बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि हरियाणा में भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला ने कहा कि भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि यह सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से एक घंटे तक लंबी बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में खट्टर और चैटाला ने कहा कि उन्होंने राज्य में मौजूदा कानून-व्यवस्था की स्थिति के बारे में बातचीत की है।

चोटाला ने दावा किया कि हरियाणा सरकार को कोई खतरा नहीं है और वह पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी। वहीं खट्टर ने कहा सरकार के भविष्य को लेकर अनुमान लगाने का कोई औचित्य नहीं है, यह अपना कार्यकाल पूरा करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा किसान प्रदर्शनों का केंद्र है, इसलिए उन्होंने गृहमंत्री के साथ राज्य में कानून-व्यवस्था को लेकर बातचीत की।

उन्होंने कहा कि हमने 26 जनवरी के उत्सव के आयोजन पर भी चर्चा की। खट्टर ने कहा कि कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगाने के उच्चतम न्यायालय के निर्णय के बाद उन्हें उम्मीद है कि किसान अपना विरोध प्रदर्शन खत्म कर देंगे। उन्होंने कहा कि यह एक राष्ट्रीय त्योहार है और सभी इसके महत्व और इससे जुड़े मूल्यों को समझते हैं। चोटाला ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने एक समिति गठित की है और उन्हें उम्मीद है कि यह मुद्दा जल्द ही सुलझ जाएगा। खट्टर और चैटाला के साथ भाजपा और जननायक जनता पार्टी (जजपा) के प्रदेश अध्यक्ष तथा प्रदेश मंत्रिमंडल के सदस्य भी यहां नॉर्थ ब्लॉक में हुई मुलाकात के दौरान मौजूद थे।

बैठक से पहले अमित शाह और दुष्यंत चोटाला ने जेजेपी के विधायकों से यहां एक फार्म हाउस में मुलाकात की, जिनमें से विधायकों के एक वर्ग का कहना था कि अगर यह कानून वापस नहीं लिया जाता तो सत्तारूढ़ गठबंधन को बड़ा नुकसान पहुंचेगा। ऐसा समझा जाता है कि दुष्यंत चोटाला के नेतृत्व वाली जननायक जनता पार्टी के कुछ विधायक प्रदर्शनकारी किसानों के दबाव में हैं।

132

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *