विधान परिषद की 12 सीटों के चुनाव की अधिसूचना जारी


लखनऊ ……..

उत्तर प्रदेश में विधान परिषद की 12 सीट पर 28 जनवरी को होने वाले मतदान से पहले सोमवार को चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी गई है। इसी के साथ ही नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। अब राजनीति के पंडितों की निगाह राजनीतिक दलों पर है। 12 में से दस सीट पर भाजपा की जीत तय है जबकि एक पर समाजवादी पार्टी जीत सकती है। अब 12वीं सीट को लेकर भाजपा के साथ समाजवादी पार्टी में जंग होगी।
प्रदेश में विधानपरिषद की 12 सीटों पर नामांकन की प्रक्रिया शुरू होने के साथ 18 जनवरी तक 18 जारी रहेगी। इन सीटों के लिए 28 जनवरी को मतदान होगा। निर्वाचन आयोग ने 28 जनवरी को होने वाले मतदान को लेकर अपनी तैयारी पूरी पर ली है। प्रदेश में 12 सीट पर होने वाले विधान परिषद के चुनाव की अधिसूचना 11 जनवरी को जारी की जाएगी। इसमें 18 जनवरी तक नामांकन होगा। नामांकन पत्रों की जांच 19 को होगी। इसके बाद नाम वापसी की अंतिम तिथि 21 जनवरी है।
उत्तर प्रदेश की सत्ता पर काबिज भाजपा 12 सीट पर सर्वाधिक लाभ में रहेगी। विधायकों की संख्या बल के आधार पर भाजपा की 12 में से दस सीट जीतना तय है। भाजपा का प्रयास 11वीं सीट जीतने का भी है। प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के खाते में 12 में से एक सीट आना तय है। विधान परिषद चुनाव को लेकर प्रदेश में राजनीतिक पार्टियां कापी सक्रिय हो गई हैं।
विधान परिषद में भाजपा की चार सीट खाली हो रही है तो वह आसानी से दस जीतने की स्थिति में है। बसपा के हाथ से तीन सीटें जा रही हैं, वह एक पर भी जीत दर्ज करने की स्थिति में नहीं है। समाजवादी पार्टी पांच के बदले सिर्फ एक सीट निश्चित जीत सकती है। विधान परिषद की जो 12 सीटें खाली हो रही हैं, उनमें पांच समाजवादी पार्टी की, चार भारतीय जनता पार्टी और दो बहुजन समाज पार्टी की हैं। नसीमुद्दीन सिद्दीकी की भी सीट रिक्त है। नसीमुद्दीन सिद्दीकी बसपा से उच्च सदन गये थे, लेकिन उनके कांग्रेस में शामिल होने के बाद दल-बदल कानून के तहत उनकी विधान परिषद सदस्यता निरस्त कर दी गई थी।

184

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *