नैनीताल घूमने गई दो लड़कियों की सड़क हादसे में मौत

नई दिल्ली —–

दिल्ली की एक सोसायटी के लोग इकठ्ठा नैनीताल घूमने गए थे, वहां घूमने के दौरान उनकी टाटा ट्रैवलर बस एक खाई में गिर गई। इस हादसे में सोसायटी के दो परिवारों की बेटियों की मौत हो गई थी। सात साल पुराने इस मामले में अदालत ने दोनों पीड़ित परिवारों को अलग-अलग मुआवजा देने के आदेश दिए हैं। एक परिवार को 62 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा, जबकि दूसरे परिवार को 53 लाख रुपये की मुआवजा रकम की भरपाई बीमा कंपनी करेगी। कड़कड़डूमा स्थित एमएसीटी जज शुचि ललेर की अदालत ने दोनों बच्चियों के घटना के समय के आर्थिक हालात व भविष्य में उनकी प्रगति के मद्देनजर मुआवजा रकम तय की। अदालत ने बीमा कंपनी को 30 दिन के भीतर मुआवजा रकम में से कुछ नकद व बाकी राशि को फिक्सड डिपॉजिट कराकर देने को कहा है। अदालत ने कहा कि दोनों लड़कियों की उम्र 20 से 22 साल के बीच थी और दोनों ही लड़कियां बड़ी कंपनियों में नौकरी कर रही थीं। उनकी घटना के समय उम्र व भविष्य में होने वाली पदोन्नति को देखा जाए तो वह अपने परिवार के लिए एक अच्छा भविष्य तैयार कर रही थीं। असमय मौत के कारण उनके परिवार को दोहरा आघात लगा है। एक तो अपनी प्यारी बेटियों को खोया और दूसरा वह उनका भविष्य भी थीं। ऐसे में तय मुआवजा रकम उनके परिवारों के लिए न्यायसंगत है। पेश मामले में पूर्वी दिल्ली की एक हाउसिंग सोसायटी के 60 लोग पांच अक्टूबर 2014 को एक साथ नैनीताल घूमने गए थे। 6 अक्टूबर को जब यह दोनों परिवार व अन्य लोग टेम्पो ट्रैवलर से जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क से वापस लौट रहे थे, तभी कालाढूंगी, नैनीताल के पास उनकी बस एक खाई में जा गिरी। इस हादसे में एक ही सोसायटी में रहने वाली दो लड़कियों की मौत हो गई थी। इसके बाद दोनों परिवारों की तरफ से दिल्ली में मुआवजा दावा दाखिल किया था।

155

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *