देश के सात राज्यों में पहुंचा बर्ड फ्लू, अब मुर्गियों में बीमारी फैलनी शुरू

नई दिल्ली

कौवें, बत्तखों, टिटहरियों और प्रवासी पक्षियों से होते हुए बर्ड फ्लू बीमारी अब मुर्गियों में फैलनी शुरू हो गई है। केंद्र सरकार ने हरियाणा के दो पोल्ट्री फार्म में इस संक्रमण के फैलने की पुष्टि कर दी है। वहीं, महाराष्ट्र के परभाणी जिले में 900 मुर्गियों की मौत सहित पूरे भारत में शनिवार तक 1,200 से अधिक पक्षी मृत मिले है। महाराष्ट्र में मृत मिले मुर्गियों की जांच रिपोर्ट का फिलहाल इंतजार है। सरकार ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सहित सात राज्यों मे अलर्ट जारी कर दिया है। पशुपालन व डेयरी विभाग ने उत्तर प्रदेश सहित केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, गुजरात में पुष्टि कर दी है। सरकार ने पहली बार हरियाण के पंचकुला में दो पोल्ट्री फार्म में मुर्गिंयो में बर्ड फ्लू की पुष्टि की है। जबकि अन्य राज्यों में प्रवासी पक्षियों से बर्ड फ्लू की पुष्टि कर दी गई है। राज्यों को अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही बर्ड फ्लू पर काबू पाने के लिए कार्य योजना के तहत उपाय लागू करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है, इसके साथ लखनऊ व कानपुर चिड़ियाघर में पक्षियों के बाडे सैनेटाइज कराए जा रहे हैं। वहीं, गुजरात में शुक्रवार को बर्ड फ्लू के पहले मामले में दो मृत टिटहरियों मे से एक के नमूने में की जांच में संक्रमण की पुष्टि हो गई है। इसके अलावा जूनागढ़ में चार कौए मृत पाए गए थे। सरकार उक्त क्षेत्रका सर्वेक्षणकर रहा है। हालांकि सूरत, मेहसाणा जिलों में मृत मिले चार कौओं के नमूनों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। सरकार ने गुजरात में बर्ड फ्लू के बारे में पांच जनवरी को अलर्ट जारी किया था। विभाग की ओर से एवियन इंफ्लूएंजा (एआई) अछूते राज्यों से भी पक्षियों के असमान्य मौत को लेकर सतर्क रहने व तुरंत सही जानकारी देने के लिए कहा गया है। राजस्थान के सवाई माधोपुर, पाली, जैसलमेर व मोहर जिलो में कौओं के बीच बर्ड फ्लू फैलने की पुष्टि हुई है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आम नागरिकों से इस बीमारी से सावधान रखने की सलाह दी है। वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐतिहातन गाजीपुर मंडी को 10 दिनों के लिए बंद कर दिया है। पूर्वी दिल्ली के संजय झील में 10 बत्तखों की मौत की सूचना है। राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में पक्षियों की मौत का क्रम जारी है और ऐसे 356 और मामले सामने आने के बाद शनिवार को राज्य में पक्षियों की मौत का आंकड़ा बढ़कर 2512 तक पहुंच गया। राजस्थान की राजधानी जयपुर सहित 11 जिलों में पक्षियों में ऐवियन इंफ्लूऐंजा एन5एन8 वारयस संक्रमण का पता चला है। हालां‍कि, शनिवार को सामने आए नतीजों में किसी नमूने में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई। पशुपालन विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, शनिवार को राज्य में 257 कौवे, 16 मोर, 29 कबूतर और 54 अन्य पक्षियों सहित कुल 356 पक्षियों की मौत हुई। शनिवार तक कुल मिलाकर 1963 कौवे, 152 मोर व 122 कबूतरों की मौत राज्‍य में हो चुकी है।

83

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *