वायु सेना का बर्खास्त जवान ठगी में गिरफ्तार

नई दिल्ली —–

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (इओडब्ल्यू) ने नौकरी का झांसा देकर छात्रों से 2.7 करोड़ की ठगी में वायुसेवा के बर्खास्त जवान को आगरा से गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान मूल रूप से आगरा के रिठौरा गांव निवासी चक्रवीर चैधरी के रूप में हुई है। वह आगरा में ही वायुसेना में तैनात था। आरोपित अपने एक साथी के साथ मिलकर वायुसेना और रेलवे में नौकरी का झांसा दे छात्रों से ठगी कर रहा था। आरोपित अब तक 18 छात्रों से ठगी कर चुका है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से आरोपित फरार चल रहा था। पुलिस उसके साथी थान सिंह को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इओडब्ल्यू के संयुक्त पुलिस आयुक्त डा. ओ.पी. मिश्रा ने बताया कि वायु सेना के कमांडर तेजवीर सिंह ने पुलिस में शिकायत की थी कि वायु सेना का एक जवान चक्रवीर चैधरी नकली भर्ती रैकेट चला लोगों से ठगी कर रहा है। मुकदमा दर्ज कर इओडब्ल्यू ने मामले की छानबीन की तो पता चला कि चक्रवीर चैधरी त्रिलोकपुरी निवासी थान सिंह के साथ वायु सेना और भारतीय रेलवे में भर्ती का दावा कर 18 छात्रों से करीब 2.7 करोड़ रुपए ठग चुका है। पीड़ितों ने पुलिस को बताया कि दोनों छात्रों को भारतीय वायु सेना और रेलवे में नौकरी का झांसा देते थे। आरोपित पीड़ितों को बताते थे कि उनकी चयन कर लिया गया है। बाद में वे दोनों विभाग का फर्जी कॉल लेटर और ज्वाइनिंग लेटर दिखा छात्रों से मोटी रकम लेते थे। इस मामले में पुलिस ने वर्ष 2019 को थान सिंह को तो गिरफ्तार कर लिया था। जबकि कर्मवीर फरार चल रहा था। उधर ठगी में शामिल होने पर वायु सेना ने जवान को बर्खास्त कर दिया था। इसी बीच जानकारी मिलने पर डीसीपी उर्वीजा गोयल की टीम ने पांच जनवरी को चक्रवीर चैधरी को उसके पैतृक गांव से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित वायु सेना में बतौर एयरक्रॉफ्ट मैन भर्ती हुआ था। मोटी कमाई के लिए वह ठगी करने लगा था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपित पर आगरा में अलग-अलग थाने में आर्म्स एक्ट सहित दो मुकदमे दर्ज हैं।

110

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *