तीर्थनगरी में आयोजित होने वाला कुंभ अनियोजित व दिशाहीन होगाः अम्बरीश

हरिद्वार —–

हरिद्वार में आयोजित होने वाला कुंभ 2021 अनियोजित एवं दिशाहीन होगा। जिसमें परंपराओं व धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। मेला शुरू होनेे में चंद दिन शेष रह गए हैं, लेकिन अभी तक कोई कार्य पूरा नहीं हुआ है। इसको लेकर कांग्रेसी 04 जनवरी को हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण के कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करेंगे। इस बात की जानकारी वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अम्बरीश कुमार ने शुक्रवार को प्रेस क्लब हरिद्वार में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि मेला सर पर आ गया है, लेकिन उसके कार्य पूरे नहीं हो सके हैं। कुंभ महापर्व को लेकर शासन की ओर से 31 दिसंबर तक कार्य को पूरा करने का निर्देश दिये गये थे। लेकिन अभी तक कुंभ का कोई कार्य पूरा नहीं हुआ है। जगह-जगह सड़कें क्षतिग्रस्त हैं। भूमिगत विद्युत लाइनों में फाल्ट आ रहा है। वहीं पीडब्ल्यूडी के मानकों के विपरित सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है। शहर में कूड़े का अंबार लगा हुआ है। इसके चलते शहर पर बीमारियों का खतरा मंडरा रहा है। ज्वालापुर क्षेत्र की पूर्ण उपेक्षा की गई है, होना तो यह चाहिए था कि संपूर्ण हरिद्वार जनपद को कुंभ मेला क्षेत्र में शामिल किया जाना चाहिए था। केंद्र की मोदी सरकार की ओर से उत्तराखंड के प्रति भेदभाव क्या जा रहा है। कुंभ मेले की भी उपेक्षा की जा रही है। मेला बजट जारी करने में कोताही की जा रही है, एक ओर सरकार दिव्य और भव्य महाकुंभ के आयोजन की बात कर रही है। वहीं आमजन को कुंभ स्नान से वंचित करने का प्रयास चल रहा है। वहीं कृषि बिल को लेकर अम्बरीश कुमार ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करते हुए कहा कि सरकार हिटलर शाही पर उतारू है। किसानों को कडाके की ठंड में लगातार 35 दिनों से आंदोलन करना पड़ रहा है। लेकिन सरकार को किसानों की तनिक भी चिंता नहीं है। कुंभ मेला निधि से शहर में स्थाई कार्य किए जाने चाहिए थे लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा उनका बजट हरिद्वार के विकास पर खर्च किया जाना चाहिए पूर्व में कांग्रेस सरकार के शासनकाल में हरिद्वार में मेला अस्पताल एवं सीसीआर भवन का तोहफा दिया गया था। पत्रकार वार्ता के दौरान डॉ. संजय पालीवाल, संजय अग्रवाल, मुरली मनोहर सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

255

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *