दिसंबर में जीएसटी कलेक्शन 1.15 लाख करोड़ रुपए के पार

नई दिल्ली —

अनलॉक के बाद आर्थिक गतिविधियों में लगातार सुधार हो रहा है। इस कारण दिसंबर में भी वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) संग्रह रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है। वित्त मंत्रालय की ओर से जारी डाटा के मुताबिक, दिसंबर 2020 में 1.15 लाख करोड़ रुपए का जीएसटी संग्रह रहा है। पिछले साल इसी महीने हुए जीएसटी कलेक्शन से यह 12 फीसदी ज्यादा है।इसके पहले अक्टूबर में 1,05,155 करोड़ रुपए और नवंबर में 1,04,963 करोड़ रुपए का जीएसटी कलेक्शन रहा था।

वित्त मंत्रालय का कहना है कि जीएसटी प्रणाली लागू होने के बाद दिसंबर में सबसे ज्यादा कलेक्शन रहा है।इसके पहले अप्रैल 2019 में सबसे ज्यादा 1,13,866 करोड़ रुपए का कलेक्शन रहा था। वित्त मंत्रालय द्वारा कहा गया है कि दिसंबर 2020 के महीने में सकल जीएसटी राजस्व संग्रह 1,15,174 करोड़ रुपए रहा है, जिसमें सीजीएसटी 21,365 करोड़, एसजीएसटी  27,804 करोड़ रुपए, आईजीएसटी – 4 57,426 करोड़ रुपए (माल के आयात पर एकत्र 27,050 करोड़ रुपए सहित) और 8,579 करोड़ रुपए उपकर (माल के आयात पर एकत्र 971 करोड़ रुपए) है। नवंबर महीने के लिए 31 दिसंबर 2020 तक दाखिल किए गए जीएसटीआर-3बी रिटर्न की कुल संख्या 87 लाख है।

कैलेंडर ईयर 2020 में केवल 5 महीनों में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहा है। इसमें दो महीने कोविड-19 से पहले और तीन महीने अनलॉक के बाद के शामिल हैं। वित्त मंत्रालय के डाटा के मुताबिक, जनवरी 2020 में सबसे ज्यादा 1,10,828 करोड़ रुपए जीएसटी कलेक्शन रहा था। इसके अगले महीने फरवरी में 1,05,366 करोड़ रुपए का कलेक्शन रहा था। अनलॉक के बाद अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर में कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए रहा है।

अप्रैल में सबसे कम कलेक्शन रहा

मार्च में कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन से जीएसटी कलेक्शन प्रभावित रहा था और यह 1 लाख करोड़ रुपए से कम होकर 97,597 रुपए रह गया था। अप्रैल में सबसे कम 32,172 करोड़ रुपए का जीएसटी कलेक्शन रहा था। हालांकि, इसके बाद जीएसटी कलेक्शन में लगातार सुधार रहा है।

285

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *