रेल लाइन के निर्माण कार्य में तेजी लाने के लिये परियोजना की आवधिक समीक्षा

नई दिल्ली —-

केन्द्रीय रेल, वाणिज्य एवं उद्योग और उपभोक्ता मामेल, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल ने जम्मू और कश्मीर में चल रही राष्ट्रीय परियोजना यूएसबीआरएल की प्रगति की समीक्षा की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में रेलवे बोर्ड के सीईओ और अध्यक्ष वी के यादव और उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल भी उपस्थित थे। यूएसबीआरएल परियोजना के मुख्य प्रशासनिकध्निर्माण अधिकारी विजय शर्मा ने मंत्री को कटरा-बनिहाल के बीच परियोजना के अंतिम चरण में हो रहे काम की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया। रेलमंत्री ने कहा कि, जम्मू और कश्मीर के लोगों की आकांक्षाओं को इस परियोजना से पूरा करना होगा जिससे इस क्षेत्र को वर्ष भर देश के बाकी हिस्सों से जुड़े रहने के लिए एक अच्छी परिवहन प्रणाली मिल सके। उन्होंने परियोजना पर काम कर रहे इंजीनियरों से मिशन मोड पर परियोजना के शेष हिस्से को तेज गति से पूरा करने का आह्वान किया। उन्होंने सामग्री खरीद और अनुमति लेने की प्रक्रियाओं को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए जिससे रेल लाइन के निर्माण में देरी न हो। उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने मंत्री को जानकारी दी की रामबन और रियासी जिले जहां परियोजना निर्माणाधीन है, वहां कोविड के चलते इलाके को रेड और ऑरेंज जोन के रूप में घोषित किया गया है, वहां कोविड-19 की मानक संचालन प्रक्रिया के साथ परियोजना का काम जारी रहा। कार्यस्थल पर कामगारों के लिए शिविर और आइसोलेशन केंद्र उपलब्ध कराए गए। विभिन्न स्थलों पर काम करने वाले 366 लोगों के वायरस से संक्रमित होने का पता चला था, वह सभी स्वस्थ हो चुके हैं। यूएसबीआरएल (उधमपुर श्रीनगर बारामूला रेल लिंक) भारतीय रेल द्वारा कश्मीर क्षेत्र को हर मौसम में देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने के उद्देश्य से हिमालय के माध्यम से ब्रॉड-गेज रेलवे लाइन के निर्माण के लिए एक राष्ट्रीय परियोजना है। यह परियोजना देश के सबसे उत्तरी उच्च पर्वतीय क्षेत्र में सभी मौसमों में आरामदायक, सुविधाजनक और लागत प्रभावी जन परिवहन प्रणाली के रूप में क्षेत्र के समग्र विकास के लिए उत्प्रेरक होगी। परियोजना के पहले तीन चरणों का निर्माण पूरा हो चुका है और कश्मीर घाटी में बारामूला-बनिहाल और जम्मू-उधमपुर-कटरा के बीच ट्रेनों के परिचालन के लिए लाइन शुरू की जा चुकी है।

326

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *