पुलिस को मिली सफलता, फरार आरोपी मामा सुल्तानपुर से गिरफ्तार

संदीप चौ​हान ——–

हरिद्वार ———

एक लाख का इनामी फरार आरोपी मामा को पुलिस ने एक सप्ताह बाद सुल्तानपुर से गिरफ्तार कर लिया है। जोकि बालिका से दुष्कर्म व हत्या मामले में फरार फरार था। जबकि पुलिस मुख्य आरोपी भांजे को घटना के दिन ही गिरफ्रतार कर चुकी है। वहीं पुलिस ने फरार आरोपी को मदद करने के आरोप में छोेटे भाई को शनिवार को गिरफ्रतार किया चुकी है। जिससे पूछताछ के दौरान पुलिस को फरार आरोपी के सम्बंध में ठोस सुराग हाथ लगे थे। इस बात की जानकारी एसएसपी सेंथिल अबुदेई कृष्णराज एस ने ज्वालापुर कोतवाली परिसर में पत्रकार वार्ता के दौरान दी। उन्होंने बताया कि 20 दिसम्बर को ट्टषिकुल कॉलोनी की एक बालिका से दुष्कर्म व हत्या मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी राम तीरथ को घटना वाले दिन ही मौके से गिरफ्रतार कर लिया था। जबकि उसका मामा राजीव कुमार फरार होने में कामयाब रहा था। फरार आरोपी राजीव कुमार की गिरफ्रतारी के लिए दस पुलिस टीमों का गठन किया गया था। साथ ही स्थानीय स्तर व अंतर राज्य स्तर पर मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया था। पुलिस टीमों ने फरार आरोपी को दबोचने के लिए 9 सौ सीसीटीवी कैमरों को खंगालते हुए अन्य राज्यों यूपी, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली आदि में पुलिस टीमें भेजी गयी थी। जिन्होंने फरार आरोपी की तलाश के लिए करीब 350 होटल, धर्मशाला, गैस्ट हाउस, रोडवेज, बसस्टेशन, रेलवे स्टेशन को खंगलाते हुए फरार आरोपी की फोटो पैम्पलेट चस्पा की गयी। उन्होंने बताया कि फरार आरोपी की गिरफ्रतारी के लिए हरिद्वार पुलिस द्वारा 250 से ऊपर सीडीआर का अवलोकन व परीक्षण किया गया। पुलिस ने फरार आरोपी राजीव कुमार के रिस्तेदारों, पडोसियों, परिचितों सहित करीब दो सौ लोगों से पूछताछ की गयी। पुलिस ने फरार आरोपी राजीव कुमार के छोटे भाई गौरव को शनिवार को गिरफ्रतार किया गया था। जिससे फरार आरोपी के सम्बंध में ठोस जानकारी हासिल हुई थी। पुलिस टीमें पहले से ही अलग-अलग जगहों पर फरार आरोपी की तलाश में छापेमारी कर रही थी। फरार आरोपी के सम्बंध में ठोस जानकारी हासिल करने के पश्चात पहले से ही सुल्तानपुर यूपी में छापेमारी कर रही पुलिस टीम को फरार आरोपी के सम्बंध में अहम जानकारी दी गयी। जिसके बाद पुलिस टीम ने फरार आरोपी राजीव कुमार को सुल्तानपुर से गिरफ्रतार कर लिया। फरार आरोपी राजीव कुमार पर डीजीपी की ओर से बीस हजार का इनाम घोषित किया गया था जिसको उत्तराखण्ड शासन की ओर से इनाम की राशि को बढ़ाते हुए एक लाख की गयी थी। प्रेसवार्ता के दौरान नगर पुलिस अधीक्षक कमलेश उपाध्याय सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

179

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *