ट्रेने बंद होने से कामगारों की बढ़ी मुसीबत


काशीपुर……

भारतीय रेल ही परिवहन के लिए आम आदमी की लाइफ लाइन रही है। वहीं पूर्वोत्तर रेलवे इज्जतनगर मण्डल के परिचालन विभाग में चार रेल गाड़ियां बंद करनेे का निर्णय से तराई क्षेत्र की जनता के सामने बड़ी समस्या बनकर सामने आई है। काशीपुर इंड्रस्ट्री हब है यहां के कंपनियां उत्तर प्रदेश के हजारों कामगारों पर निर्भर हैं। रेलवे के जरिये यह कामगार अपने काम पर पहले आते और जाते थे। पर रेलवे प्रशासन द्वारा चार गाडियों को पूरी तरह से बंद करने से इन श्रमिकों के सामने परिवहन का बड़ा संकट गहरा गया है। काशीपुर तक आने जाने में श्रमिकों को तीन गुना किराया खर्च करना पड़ रहा है।
पूर्वोत्तर रेलवे ने 4 रेलगाड़ियों स्थायी रूप से बंद कर दी है, जिसमें से दो रामनगर-काशीपुर-मुरादाबाद होते हुये हरिद्वार के बीच तथा दो रामनगर-काशीपुर-मुरादाबाद के बीच चलती थी। इसमें गाड़ी संख्या 55321 (मुरादाबाद-रामनगर), 55308 (रामनगर-मुरादाबाद), 15033 (हरिद्वार-रामनगर) तथा 15034 (रामनगर-हरिद्वार) को स्थायी रूप से बंद करनेे का निर्णय लिया गया है। गाड़ी संख्या 55321 मुरादाबाद से रोजाना प्रातः 07ः35 बजे चलकर गोट, सेहल, पीपलसाना, जालपुर, रोशनपुर, पदियानगला, अलीगंज होते हुये 09ः05 बजे काशीपुर पहुंचती थी इस ट्रेन के जरिये हजारों श्रमिक काशीपुर पहुंचते थे और अपने कंपनियों पर चले जाते थे। वहीं इस रूट पर चलने वाली अतिरिक्त ट्रेन संख्या 15034 बंद कर दी गयी हैै। सप्ताह में 3 दिन बृहस्पतिवार, शनिवार तथा रविवार को चलती थी। यह गाड़ी रामनगर से सुबह आठ बजकर 25 मिनट पर चलकर काशीपुर पहुंचकर आठ बजकर 45 मिनट पर काशीपुर से चलकर रोशनपुर, पीपलसाना होते हुये 10ः30 बजे मुरादाबाद तथा नजीबाबाद, लक्सर होते हुये दोपहर 02ः05 बजेे हरिद्वार पहुंचती थी। यह ट्रेने भी रोजाना यात्रियों में काफी लोकप्रिय थी।
मुरादाबाद से काशीपुर तक आने वाले श्रमिकों को ट्रेन सुविधा न होने से प्राइवेट बसों के मनमानी का शिकार होना पड़ रहा है जहां जहां पहले 20 रुपये में काशीपुर पहुंच जाते थे वहीं अब बसों में 70 रुपये तक उनके खर्च करने पड़ रहे हैं। श्रमिकों का कहना है कि रेलवे की ट्रेने न चलने से सीधे तोर पर सबसे ज्यादा मार श्रमिकों को ही पड़ रही है। यह ट्रेने श्रमिकों के लिए आने जाने के लिए लाइफ लाइन थीं।

187

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *