छात्र इंडक्शन प्रोग्राम नए छात्रों को नए माहौल में समायोजित करने और आरामदायक महसूस करने में मदद – रूपकिशोर शास्त्री

हरिद्वार —-

विश्वविद्यालय के अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संकाय में एआईसीटीई द्वारा निर्देशित छह दिवसीय छात्र इंडक्शन कार्यक्रम के समापन की अध्यक्षता करते हुये गुरुकुल कांगड़ी समविश्वविद्यालय के कुलपति प्रो रूपकिशोर शास्त्री ने कहा कि इस तरह के छात्र इंडक्शन प्रोग्राम नए छात्रें को नए माहौल में समायोजित करने और आरामदायक महसूस करने में मदद करता है। संस्था में आते ही कार्यक्रम नए छात्रें के साथ जुड़ जाता है। संस्था उन्हें अन्य छात्रों और संकाय सदस्यों के साथ सहयोग करने में मदद करती है। प्रो. पंकज मदान संकायाध्यक्ष, अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी संकाय ने कहा इस तरह के प्रोग्राम को एआईसीटीई ने सभी संस्थानों को करवाने के लिए अनिवार्य कर दिया है एवं इसकी अवधि न्यूनतम एक सप्ताह की होनी चाहिए। उन्होंने कहा ंिक छात्र प्रेरणा कार्यक्रम आत्मविश्वास के साथ प्रतियोगी दुनिया का सामना करने के लिए इच्छुक शिक्षार्थियों को सशक्त बनाने के लिए, सत्य, धार्मिक आचरण, प्रेम, अहिंसा, शांति जैसे सार्वभौमिक मानव मूल्यों के आधार पर चरित्र निर्माण के लिए अग्रणी जीवन के नए मार्ग खोलते हैं। कार्यक्रम का संयोजन, संयोजक डॉ. देवेंद्र सिंह एवं सह-संयोजक डॉ. प्रवीण पांडे एवं समस्त आयोजन समिति ने किया। कार्यक्रम में विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों जैसे बीएचईएल, सिडकुल, पीएचडी चैंबर आदि वक्ताओं ने अपने व्याख्यान प्रस्तुत किए। कार्यक्रम में वेद, साहित्य, संस्कृत, योग, पर्यावरण व औद्योगिकी से संबंधित व्याख्यान हुए। इस कार्यक्रम में 30 सुप्रसिद्ध वक्ताओं ने अपने वक्तव्य प्रस्तुत किए। उपरोक्त वक्ता विभिन्न विश्वविद्यालयों जैसे गुरुकुल कांगड़ी समविश्वविद्यालय, आयुर्वेद विश्वविद्यालय उत्तराखंड, उत्तराखंड संस्कृत विश्वविद्यालय तथा देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार से हैं। इस कार्यक्रम में लगभग 350 नए प्रवेशित इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों ने प्रतिभाग किया।

141

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *