दीदी के वट वृक्ष को हिलाने पहुंचे शाह

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं, राजनीतिक गतिविधियां तीव्र से तीव्रतर हो रही हैं। अभी पिछले दिनों सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता शुभेन्दु अधिकारी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। टीएमसी के कई नेता इस बीच पाला बदल चुके हैं। शुभेन्दु की नाराजगी भी काफी पहले से दिख रही थी लेकिन उन्हें मनाने के प्रयास भी हो रहे थे। शुभेन्द्र अधिकारी वही नेता हैं जो उस समय दीदी के साथ खड़े थे, जब सिंगूर मंे किसानों के आंदोलन के दौरान ममता बनर्जी की अचानक तबियत खराब हो गयी थी। शुभेन्दु ही ममता बनर्जी को अस्पताल मंे भर्ती कराने ले गये थे। ममता बनर्जी के बहुत ही विश्वसनीय रहे हैं लेकिन आज जब वे अलग हो रहे हैं तब ममता बनर्जी कहती हैं कि तृणमूल कांग्रेस एक वट वृक्ष है। एक दो के चले जाने से कोई फर्क नहीं पडे़ेगा। ममता बनर्जी जब यह बात कह रही थीं, तभी भाजपा के चाणक्य और केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह वहां पहुंच गये। उनका दो दिवसीय कार्यक्रम है। भाजपा नेताओं का मानना है कि अमित शाह जी ममता बनर्जी के वट वृक्ष को हिलाने की योजना लेकर पहुंचे हैं। हालांकि भाजपा के सामने भी दिक्कते हैं। बंगाल के भाजपा सांसद शांतनु ठाकुर ने कहा कि अमित शाह बंगाल आकर यह आश्वासन दें कि नागरिकता संशोधन विधेयक यहां लागू किया जाएगा। इस विधेयक को लेकर भाजपा शासित राज्य असम मंे विरोध हो रहा है। शांतनु ठाकुर मतुआ समुदाय से हैं जिनके पूर्वज दशकों पहले बांग्लादेश से आए। सीएए के तहत उनको नागरिकता मिलने का रास्ता साफ होगा। उधर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इसका विरोध कर रही हैं।
पश्चिम बंगाल में टीएमसी के दिग्गज नेता शुभेंदु अधिकारी के विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद सियासी हलचल बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि शुभेंदु अधिकारी बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। इस बीच सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बिना नाम लिए शुभेंदु अधिकारी पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि टीएमसी एक बरगद के पेड़ की तरह है। एक-दो लोगों के जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता। इस दौरान ममता ने बीजेपी पर भी जमकर निशाना साधा।
कूचबिहार में एक रैली को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा “जो अच्छा काम करेंगे, उन्हें टिकट मिलेगा, यह पार्टी का निर्णय है। कुछ आशंकित हो सकते हैं, इसलिए वे छोड़ने का फैसला कर सकते हैं। बीजेपी ने पहले ही हमें जेल भेजने की धमकी दी है, इसलिए कुछ लोग डर सकते हैं। अगर उन्होंने मुझे जेल भेज दिया तो मुझे गर्व होगा, लेकिन मैं कभी बीजेपी के सामने झुक नहीं सकती।”
ममता बनर्जी ने सनसनीखेज दावा किया कि बीजेपी ने टीएमसी के प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी सांसद सुब्रत बख्शी को उकसाया था। विधायक ममता ने कहा कि कितने बेशर्म हैं, उन्होंने मेरे प्रदेश अध्यक्ष को फोन किया। इनका इतना साहस! वे कितने खतरनाक हैं? उनके पास जरा भी शिष्टाचार नहीं है। इधर, बागी तेवर अपनाने वाले शुभेंदु अधिकारी ने आशंका व्यक्त की है कि उन्हें बंगाल पुलिस द्वारा झूठे मामलों में फंसाया जा सकता है। विधायक पद से इस्तीफे के बाद केंद्र सरकार के हस्तक्षेप की मांग करते हुए शुभेंदु ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने झूठे मामलों में फंसाए जाने की आशंका जाहिर की। बता दें कि सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस में विरोध के स्वर काफी बुलंद हो रहे हैं। ऐसे ही एक नेता हैं जितेंद्र तिवारी, जिन्होंने अपनी सरकार के मंत्री को पत्र लिखकर ही विकास के मुद्दे पर घेरा था। अब इस विधायक से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मुलाकात करेंगी। पांडेश्वर विधानसभा सीट से टीएमसी विधायक जितेंद्र तिवारी की ममता बनर्जी से मुलाकात 18 दिसंबर को होगी। फिलहाल ममता बनर्जी उत्तरी बंगाल के दौरे पर हैं।
ममता बनर्जी की पार्टी में बागी नेताओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस बार ममता बनर्जी को एक बड़ा झटका लगा है। टीएमसी के विधायक शुभेंदु अधिकारी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। ममता को सत्ता में लाने में और लेफ्ट के 34 साल के राज को ध्वस्त करने में शुभेंदु का बहुत बड़ा हाथ रहा है।
उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल दौरे को लेकर सुरक्षा एजेंसियों ने खास इंतजाम किए हैं। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमले के बाद अमित शाह की सुरक्षा को और मजबूत किया गया है। क्लोज प्रोटेक्शन टीम और आउटर प्रोटेक्शन टीम में तैनात जवानों की तादात में बढ़ोतरी होगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सुरक्षा में केंद्रीय सुरक्षा बल और स्टेट आर्म्ड पुलिस के जवान मौजूद रहेंगे। रोड शो और जनसभा के दौरान सड़क पर मौजूद लोगों की महत्वपूर्ण जगहों पर स्क्रीनिंग की जाएगी। भीड़ के बीच बड़ी तादात में सादी वर्दी में सुरक्षा एजेंसियों के जवानों की तैनाती होगी। सभा स्थल और रोड शो की जगह पर सुरक्षा एजेंसियां कार्यक्रम से पहले नियमित रूप से रेकी और रिहर्सल करेंगे। स्थानीय पुलिस को इलाके की कानून व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। आपको बता दें कि अमित शाह 19 और 20 दिसंबर को बंगाल दौरे पर रहेंगे।
गौरतलब है कि पिछले दिनों डायमंड हार्बर जाते वक्त बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमला हुआ था। बीजेपी ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर हमले का आरोप लगाया था। इस हमले में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय घायल हो गए थे। इस हमले के बाद कैलाश विजयवर्गीय की सुरक्षा को बढ़ाकर जेड श्रेणी कर दी गई है। साथ ही उन्हें बुलेटप्रूफ गाड़ी दी गई है।
बीजेपी सांसद जॉन बरला को एक्स कैटेगरी की सुरक्षा दी गई है। इससे पहले टीएमसी से नाराज चल रहे वरिष्ठ नेता शुभेंदु अधिकारी को भी गृह मंत्रालय की तरफ से सुरक्षा दी गई है। शुभेंदु को जेड कैटेगरी सुरक्षा मिली है। शुभेंदु ने कहा है कि उन पर हाल के दिनों में 11 हमले हो चुके हैं। साथ ही जान से मारने की धमकी की बात भी सामने आई थी। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव के मद्देनजर राज्य का सियासी माहौल गरम है। इस बार सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस को चुनौती देने के लिए बीजेपी पूरी ताकत के साथ उतरी हुई है।
बीजेपी की तरफ से बार-बार टीएमसी नेताओं व कार्यकर्ताओं पर गुंडागर्दी के आरोप भी लगाए जा रहे हैं, साथ ही बीजेपी ये भी आरोप लगा रही है कि टीएमसी के गुंडे बीजेपी से जुड़े कार्यकर्ताओं की हत्या कर रहे हैं।

(हिफी)

137

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *