तक्षशिला विवि को पाक ने बताया प्रचीन पाकिस्तान का हिस्सा, सोशल माडिया पर जमकर उड़ी खिल्ली

नई दिल्ली ——–

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के जिम्मेदार लोगों द्वारा गैरजिम्मेदार बयान कोई नई बात नहीं है। पाक के एक नए शगूफे से सोशल मीडिया पर उसकी जमकर खिल्ली उड़ रही है। दरअसल, पाकिस्तान के एक राजनयिक ने ऐतिहासिक तक्षशिला यूनिवर्सिटी को पाकिस्तान का बताया है। इसके बाद सोशल मीडिया पर जमकर पाकिस्तान का मजाक उड़ रहा है और लोगों ने राजनयिक से कहा कि पहले ये तो जान लीजिए कि पाकिस्तान कब बना था। वियतनाम में पाकिस्‍तान के राजदूत कमर अब्‍बास खोखर ने तक्षशिला विश्‍वविद्यालय को श्प्राचीन पाकिस्‍तानश् का हिस्सा बताया है। कमर अब्‍बास खोखर ने तक्षशिला यूनिवर्सिटी की फोटो शेयर करते हुए लिखा, श्एरियल व्यू, तक्षशिला विश्‍वविद्यालय की यह तस्‍वीर है, जो फिर से बनाई गई है। यह यूनिवर्सिटी प्राचीन पाकिस्‍तान में आज से 2700 साल पहले इस्‍लामाबाद के पास मौजूद थी। इस विश्‍वविद्यालय में दुनिया के 16 देशों के छात्र 64 अलग-अलग विषयों में उच्‍चशिक्षा ग्रहण करते थे जिन्‍हें पाणिनी जैसे विद्वान पढ़ाते थे।श् कमर अब्‍बास खोखर के ट्वीट के बाद लोगों ने सोशल मीडिया पर जमकर उनका मजाक उड़ाया और कहा कि पहले ये तो जान लीजिए कि पाकिस्तान कब बना। इसके बाद ट्विटर पर ऐनसेंट पारिस्तान टॉप ट्रेंडिंग में आ गया। एक यूजर ने लिखा, श्2700 साल पहले न तो इस्लाम था और न ही पाकिस्तान, न ही प्राचीन पाकिस्तान। तक्षशिला एक उर्दू शब्द नहीं है और पाणिनी एक ब्राह्मण थे। यह एक भारतीय उपमहाद्वीप था। कैसे ये लोग अपने ही नागरिकों को बेवकूफ बना रहे हैं।श् एक यूजर ने लिखा, श्प्राचीन पाकिस्तान? असल में 14 अगस्त 1947 से पहले कोई पाकिस्तान नहीं था यह सिर्फ भारत था। केवल उनकी सोच के अलावा पाकिस्तान में कुछ भी प्राचीन नहीं है।

140

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *