कॉलेज से पढ़कर निकल रहे डॉक्टरों की गुणवत्ता आने वाली कई पीढ़ियों के लिए देश में स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता तय करेगी — मंत्री हर्षवर्धन

नई दिल्ली ———–

केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज  (एलएचएमसी) के दीक्षांत समारोह में छात्रों को वर्चुअल संबोधित किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार भी इस अवसर पर उपस्थित थे। मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, “विख्यात लेडी हार्डिंग मेडिकल कालेज के दीक्षांत समारोह का हिस्सा बनकर वह सम्मानित गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। इस कालेज के गौरवशाली इतिहास में आज एमबीबीएस के 99वें बैच के छात्रों को डिग्री प्रदान करने के साथ एक और अध्याय जुड़ गया है। उन्होंने कहा, “लेडी हार्डिंग ऐतिहासिक संस्थान है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि दिल्ली की पहचान मानी जाने वाली इमारतें कनाट प्लेस, संसद और राष्ट्रपति भवन से भी पहले एलएचएमसी की स्थापना हो गई थी। उन्होंने कहा, “ स्थापना के अपने 104 वर्षों में यह संस्थान हमारे देश में महिलाओं के सशक्तिकरण का प्रतीक रहा है।

आज लेडी हार्डिंग के एल्युमिनाई देश-विदेश में प्रतिष्ठित स्थानों पर हैं तथा स्वास्थ्य सेवा के साथ चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने सराहनीय योगदान दिया है और संस्थान तथा देश का नाम रोशन किया है। देश के दस शीर्ष मेडिकल कॉलेजों में संस्थान की रैंकिंग रही है और यह निरंतर उत्कृष्ट चिकित्सा विशेषज्ञों को तैयार कर रहा है।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा, “ मुझे यह बताने में गर्व महसूस हो रहा है कि किस तरह से एलएचएमसी कोविड-19 की अभूतपूर्व चुनौती के मुकाबले में सामने आया और इस जान लेवा वायरस से लड़ाई में किस तरह से बेहतर तरीके से काम किया। लेडी हार्डिंग दिल्ली के सर्वप्रथम सरकारी संस्थानों में था जहां आरटी-पीसीआर टेस्ट की आधुनिकतम सुविधा आरंभ की गई। कोरोना संक्रमण के फैलाव और कम जानकारी वाले वायरस के संक्रमण के इलाज की विभिन्न पद्धतियों के परीक्षण के बीच एलएचएमसी उन कुछ केंद्रों में से था जहां स्वास्थ्य लाभ के लिए प्लाज्मा थैरेपी की उपयोगिता के मूल्यांकन के लिए प्रयोगों का संचालन किया गया।

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, “मुझे यह कहने में खुशी हो रही है कि ऐसे समय में भी एलएचएमसी ने कैंसर सर्जरी, कैंसर और थैलेसीमिया मरीजों के ब्लड ट्रांसफ्यूजन के लिए कीमोथेरेपी सेवाओं के अलावा गैर पुराना मरीजों के उपचार सहित पूर्ण आवश्यक सेवाएं देना जारी रखा। मैं एलएचएमसी के डॉक्टरों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की टीम की इस भावना की सराहना करता हूं जिन्होंने अपने कई डॉक्टरों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के कोरोना संक्रमित होने के बावजूद इस महामारी से लड़ाई जारी रखी।

171

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *