पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान और कतर के ऊर्जा मंत्री के बीच ऊर्जा संबंधी एक कार्य दल का गठन किए जाने पर सहमति बनी

नई दिल्ली —–

केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस और इस्पात मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कतर के ऊर्जामंत्री एवं कतर पेट्रोलियम के अध्यक्षएवं सीईओ महामहिम साद शेरीदा अल-काबीके साथ आज एक टेलीफोन वार्ता में भारत में ऊर्जा के संपूर्ण क्षेत्र में कतर के निवेश को प्रोत्साहन देने के मुद्दे पर चर्चा की। यह वार्ता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कतर के अमीर महामहिम शेख तमीम बिन हमद अल थानी के साथ 8 दिसंबर को हुई चर्चा के बाद बने रोडमैप के तहत हुई है। प्रधान ने कहा कि भारत में एलएनजी और एलपीजी की आपूर्ति में कतर एक विश्वसनीय आपूर्तिकर्ता है। दोनों देश इस बात पर सहमत है कि आगे भी वह ऊर्जा के क्षेत्र में संबंधों को कहीं ज्यादा मजबूत करेंगेऔर खरीददार और विक्रेता के संबंधों को अगले स्तर तक ले जाएंगे। जिसके तहत दोनों देशों एक-दूसरे के यहां निवेश करेंगे। दोनो मंत्री इस बात पर सहमत हुए कि ऊर्जा संबंधी एक कार्य दल का गठन किया जाए।कार्य दल में कतर पेट्रोलियम के वाइस प्रेसिडेंट और पेट्रोलियम मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे जो कि भारत के ऊर्जा क्षेत्र में कतर के निवेश संभावनाओं की पहचान करेंगे।

21

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *