पहाड़ी इलाकों में चीन का अक्रामक रुख, सेना में शामिल की घातक मोबाइल होवित्जर

नई दिल्ली ——-

एक रिपोर्ट के हवाले से खबर आ रही है कि चीनी सेना पीएलएफ की 72वीं ग्रुप आर्मी से संबंधित लाइटवेट कंबाइंड आर्म्स ब्रिगेड ने कुछ दिन पहले एक लाइव-फायर तकनीकी अभ्यास किया। इस अभ्यास में हाल में ही सेना में शामिल किए गए कई प्रकार के अत्याधुनिक हथियारों को भी फायर किया गया था। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि यह एक्सरसाइज कहां हुई थी। पीसीएल-171 होवित्जर को भी हाल में हुई लाइव फायर ड्रिल में शामिल किया गया था। जिसे किसी ट्रक पर माउंट करने की जगह छह पहियों वाले डोंगफेंग मेंगशी ऑफ-रोड असॉल्ट वाहन के ऊपर लगाया गया है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इस होवित्जर की गन 122 मिलीमीटर की है। इसे इसी साल गलवान में भारतीय सेना के साथ हुई झड़प के बाद चीनी सेना में शामिल किया गया था।

चीनी सेना के ऑर्टिलरी के कंपनी कमांडर ली कियु ने दावा किया कि पहले के चीनी सेना की टोड होवित्जर की तुलना में यह नई गन अधिक प्रभावी है। नए और शक्तिशाली असॉल्ट व्हीकल पर लगाए जाने के कारण इसे युद्ध के मैदान में जल्दी से तैनात किया जा सकता है। छह पहियों की गाड़ी के ऊपर लगे होने के कारण यह ऑफ रोड पर भी आसानी से चल सकता है। चीन किसी भी तरह से भारत के साथ लद्दाख में जारी सैन्य तनाव को कम करने के मूड में नहीं है। चीन की हरकतों से कई दौर की सैन्य और डिप्लोमेटिक बातचीत के बाद भी सीमा पर तैनात सैनिकों को वापस बुलाने को लेकर कोई भी सहमति नहीं बन पाई है। चीनी सेना अभी भी आक्रामक रूप से बॉर्डर के इलाकों में तैनात है, जिसके जवाब में भारत ने भी सैन्य तैनाती को मजबूत किया है।

149

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *