केंद्र सरकार को भेजा जेवर एयरपोर्ट का मास्टर प्लान

नई दिल्ली ———–

दिल्ली से सटे जेवर में प्रस्तावित नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का मास्टर प्लान भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण को भेज दिया गया। करीब एक सप्ताह पहले विकासकर्ता कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी ने मास्टर प्लान नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कंपनी लिमिटेड को सौंप दिया था। मास्टर प्लान को नागर विमानन मंत्रालय को भेजा है। इसके तकनीकी परीक्षण में करीब एक माह का समय लगने की उम्मीद है। यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ.अरुणवीर सिंह ने बताया कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का मास्टर प्लान ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी ने पिछले सप्ताह नियाल को सौंपा था। विकासकर्ता कंपनी ने एयरपोर्ट को चारों फेज का मास्टर प्लान तैयार किया है। इसमें टर्मिनल बिल्डिंग, कॉमर्शियल, होटल, कार्यालय, एजुकेशन ट्रेनिंग सेंटर, कार्गो सुविधा और वाहन पार्किंग आदि को शामिल किया गया है। इसके अलावा मेंटीनेंस, रिपेयर, ओवरहालिंग की सुविधा भी विकसित की जाएगी। टर्मिनल बिल्डिंग में ही दिल्ली-वाराणसी हाईस्पीड ट्रेन का स्टेशन बनाया जाएगा। डॉ.अरुणवीर सिंह ने कहा कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के पास मास्टर प्लान की तकनीकी जांच करने के लिए विशेषज्ञों की टीम उपलब्ध नहीं है इसलिए तकनीकी परीक्षण के लिए मास्टर प्लान को नागर विमानन मंत्रालय भेजा है। परीक्षण के बाद मास्टर प्लान वापस आएगा। फिर यमुना प्राधिकरण और नियाल के बोर्ड में रखा जाएगा। इस एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग में कॉमर्शियल जगह चिन्हित की गई है। इसी बिल्डिंग में दिल्ली-वाराणसी हाईस्पीड रेल का स्टेशन बनाया जाएगा जिससे यात्री आसानी से रेल और हवाई जहाज के बीच आवाजाही कर सकेंगे। यह अपने आप में अनोखा एयरपोर्ट होगा।

148

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *