मरीज की मौत पर अस्पताल में परिजनों ने काटा हंगामा

हल्द्वानी। मुखानी स्थित एक निजी अस्पताल में मरीज की ऑपरेशन के बाद मौत होने पर परिजनों ने अस्पताल में हंगामा काटा। परिजनों का आरोप था कि अस्पताल प्रशासन ने परिजनों की सहमति लिए बिना ही उसकी किडनी निकाल ली। हंगामा बढ़ते देख मौके पर पुलिस पहुंच गई।
पुलिस के अनुसार देवलचौड़ निवासी नरेंद्र सिंह रावत 45 वर्ष पुत्र लाल सिंह रावत मुखानी के पास एक कपड़े की दुकान चलाता था। 3 दिन पहले उसका अचानक स्वास्थ्य बिगड़ गया। उसे किसी परिचित ने मुखानी स्थित निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया। अस्पताल में हुई जांच के बाद पता चला कि उसकी किडनी में इन्फेक्शन है। डॉक्टरों ने उसका तुरंत ऑपरेशन कराने की बात बताई। उसके साथ भाई-बहन बनकर आए एक महिला और एक आदमी ने उसके ऑपरेशन पर सहमति जता दी। अस्पताल प्रशासन ने दस हजार रुपये जमा कर उसका ऑपरेशन कर दिया। सोमवार सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उसकी मौत की सूचना जैसे ही उसकी पत्नी और परिजनों को मिली तो उन्होंने अस्पताल में पहुंचकर हंगामा खड़ा कर दिया। उनका कहना था कि बिना उनकी अनुमति के नरेंद्र की किडनी नहीं निकाली जानी चाहिए थी। इस पर डॉक्टरों ने तर्क दिया कि जो उसके साथ में भाई-बहन बनकर आए थे, उन्होंने उनकी सहमति पर उसकी किडनी का ऑपरेशन किया। किडनी काफी क्षतिग्रस्त हो चुकी थी। लिहाजा उसको निकालना पड़ा। हंगामे की सूचना पर मुखानी और कोतवाली से वहां पर पुलिस पहुंच गई।

20

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *