शिवरात्रि समीप आने के साथ कांवडिय़ों की वापसी में आयी तेजी

हरिद्वार – हरिद्वार धर्मनगरी में चल रही शारदीय कांवड़ यात्रा के दौरान बृहष्पतिवार को बड़ी संख्या में कांवडि़एं हरकी पैड़ी से गंगाजल भरकर अपने गंतव्यों के लिए रवाना हुए। कांवड़ों में भरकर ले जाया जा रहा गंगा जल से 4 मार्च को शिवरात्रि के दिन भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक किया जाएगा। एक सप्ताह से चल रही कांवड़ यात्रा के दौरान बड़ी संख्या में कांवडि़ए जल भरने के लिए हरिद्वार पहुंच रहे हैं। शारदीय कांवड़ यात्रा में मुख्यत: बिजनौर, मुरादाबाद व पूर्वी उत्तर प्रदेश के श्रद्धालु कांवड़ लेने हरिद्वार आते हैं। इन दिनों हरकी पैड़ी सहित तमाम घाटों पर कांवडिय़ों की भारी भीड़ दिखाई दे रही है। हरिद्वार आने वाली तमाम बसों से कांवडि़एं हरिद्वार पहुंच रहे हैं। ट्रेनो से भी भारी संख्या में कांवडि़एं पहुंच रहे हैं। शिवरात्रि का पर्व नजदीक आने के साथ कांवडिय़ों की वापसी तेजी से हो रही है। हरिद्वार-नजीबाबाद हाईवे से दिनरात कांवडि़एं वापसी कर रहे हैं। हरिद्वार-दिल्ली हाईवे से भी कांवडि़एं वापस लौट रहे हैं। शारदीय कांवड़ मेले में मुख्यत: बिजनौर, मुरादाबाद व पूर्वी उत्तर प्रदेश के कांवडि़एं ही आते रहे हैं। लेकिन पिछले कुछ समय से पश्चिमी उत्तर प्रदेश व हरियाणा आदि से भी कांवडि़एं जल भरने के लिए आने लगे हैं।
शारदीय कांवड़ मेला हरिद्वार में लगभग तीन महीने चलने वाली मंदी को तोडऩे में भी भूमिका निभाताा है। मंदी झेल रहे व्यापारियों को कांवडिय़ों की भीड़ आने से कुछ राहत मिली है। हरिद्वार के तमाम बाजारों में कांवड़, कांवड़ सजाने का सामान व अन्य जरूरी सामान खरीदने के लिए कांवडिय़ों की भारी भीड़ उमड़ रही है।

24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *