कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के जाते ही भाजपा के कार्यक्रम में हंगामा

हरिद्वार। भाजपा सप्तऋषि मंडल की कार्यकारिणी के कार्यक्रम से शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के जाते ही हंगामा हो गया। निवर्तमान भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष मुकेश पुरी ने हंगामा करते हुए आरोप लगाया कि उनको काबिलियत के अनुरूप कार्यकारिणी में पद नहीं दिया गया है। मुकेश पुरी ने मंत्री के द्वारा दिए गए नियुक्त पत्र को भी फाड़ दिया। बता दें कि सप्तऋषि मंडल की कार्यकारिणी में मुकेश पुरी को बतौर सदस्य शामिल किया गया था। हालांकि मुकेश पुरी का कहना है कि उन्होंने पत्र नहीं फाड़ा, जबकि सप्तऋषि मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी का कहना है कि पुरी ने नियुक्ति पत्र फाड़ा है।
नगर निकाय चुनाव के दौरान सप्तऋषि मंडल के अध्यक्ष अनिरुद्ध भाटी को हटाए जाने के बाद वीरेंद्र तिवारी को मंडल का अध्यक्ष बनाया गया। अध्यक्ष बनने के बाद तिवारी ने अपनी कार्यकारिणी बनाई और रविवार को कार्यकारिणी में शामिल नेताओं को नियुक्त पत्र दिए जाने के लिए कार्यक्रम का आयोजन कैलाश गली स्थित दून पब्लिक स्कूल में किया। बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पहुंचे। कौशिक का नेताओं ने स्वागत किया। स्वागत के बाद नियुक्त पत्र बांटने का सिलसिला शुरू हो गया। पत्र बांटे गए और फिर मंत्री ने संबोधन शुरू कर दिया।
संबोधन के बाद मंत्री मदन कौशिक कार्यक्रम से चले गए। भाजपा युवा मोर्चा के निवर्तमान अध्यक्ष मुकेश पुरी ने अपनी नियुक्त को लेकर सप्तऋषि मंडल अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी पर सवाल दाग दिए। उन्होंने मंत्री के जाते ही हंगामा किया और सबके सामने नियुक्त पत्र को फाडक़र फेंक दिया। मुकेश पुरी ने यह कहते हुए हंगामा शुरू कर दिया कि जो पद उसको कार्यकारिणी में दिया गया है उस पद पर वो कई वर्षों पहले रह चुके हैं। भाजपा नेता का हंगामा देख सप्तऋषि मंडल के अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी समझाने आए तो उन्होंने अध्यक्ष को खरीखोटी सुनानी शुरू कर दी। अध्यक्ष वीरेंद्र तिवारी, पार्षद विनीत जौली, रमेश गौड़ और सर्वेश्वर मूर्ति भट्ट भाजपा नेता को एक कमरे में ले गए। जहां काफी देर भाजपा नेता को समझाने मनाने का दौर शुरू हो गया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद भाजपा नेता को समझा-बुझाकर के शांत कराया गया।

23

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *