वार्षिकोत्सव में बच्चों की प्रस्तुतियों पर झूमे अतिथी व अभिभावक

हरिद्वार – शैमरॉक रिवेरडेल स्कूल में वार्षिकोत्सव धूमधाम के साथ मनाया गया। आर्यनगर स्थित फ्रैन्डस कालोनी में सुरताल थीम पर आयोजित वार्षिकोत्सव में नन्हें छात्र-छात्राओं ने मनमोहक प्रस्तुतियां देकर देश के वीर शहीदों को नमन किया। वार्षिक महोत्सव का स्कूल के डायरेक्टर शेखर शर्मा, प्रधानाचार्य वसुधा ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कुमारी अन्नया ने सरस्वती वंदना की प्रस्तुति देकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। वार्षिकोत्सव में गणेश वंदना पर बच्चों द्वारा मनमोहक नृत्य प्रस्तुत कर अभिभावकों को प्रभावित किया। इस अवसर पर स्कूल के डायरेक्टर शेखर शर्मा ने कहा कि स्कूली बच्चों को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रतिभाग करने से बच्चों के आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है। शिक्षा के साथ-साथ अन्य गतिविधियों में भी स्कूल की महत्वपूर्ण भूमिका निभाता चला आ रहा है। अच्छी शिक्षा ग्रहण करने से ही बच्चे चरित्रवान बनते हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा से ही राष्ट्र को उन्नति के पथ पर अग्रसर किया जा सकता है। प्रधानाचार्य वसुधा ने कहा कि बेटों व बेटियों को समान रूप से शिक्षा के अवसर प्रदान किए जाने चाहिए। शिक्षित समाज ही विसंगतियों को दूर करने में अपनी भूमिका निभाता है। छात्र जीवन में ही बच्चों को संस्कारवान बनाया जाताा है। संस्कारित बच्चे ही आगे चलकर डाक्टर, इंजीनियर व वैज्ञानिक बनकर देश का नाम रोशन करते हैं। उन्होंने अभिभावकों से भी अपील की बाल्यकाल में बच्चों की विशेषतौर पर ध्यान रखना चाहिए। बच्चों का मन कोमल होता है। अच्छा ज्ञान ही बच्चों को प्रदान करना चाहिए। वार्षिकोत्सव में शामिल अतिथीयों का उन्होंने आभार जताया। वार्षिकोत्सव में नर्सरी बी-1 और बी-2 के स्कूली बच्चों ने गलती से मिस्टेक, बार्बी गर्ल, बम बम भोले पर नृत्य कर अभिभावकों का मन प्रफुल्लित किया। नर्सरी ए-1 और ए-2 के बच्चों ने सिंघम, लोंग लाची, भर दो झोली, रस्के कमर गानों पर मनलुभावना प्रस्तुतियां दी। एलकेजी-1 और एलकेजी-2 के बच्चों ने ओरे चिडिय़ा, खली बली, देश रंगीला, बन जा तु मेरी रानी पर नृत्य की प्रस्तुतियां दी। वहीं यूकेजी प्रथम कथा के छात्रों ने लुकाछिपी, फूलो का तारो पर नृत्य पर प्रस्तुत किया। अच्छी प्रस्तुति देने वाले बच्चों को प्रोत्साहित करते हुए पुरूस्कृत किया गया। अधिराज अजीत, यूविका सिंह, आरव गोयल, अनवी, भाव्या, लक्ष्य, सनवी चैहान, सिद्धार्थ त्यागी, वेदांत राठौर, विश्वेश तिवारी, ऐश्वर्य, काव्या, सानवी कुमार, शारिक, सरीन गोयल, आरव मेहता, अक्षय, आरन्या शर्मा, आरूषि, भाव्या गोयल, गजल, ईशान, तासी, आयुष, अक्षय, दिवनेश, जयदेव, ओजस्वी, आदित्य, मान्या, रूद्ररिका, सान्या गोयल आदि को पुरूस्कृत किया गया। इस अवसर पर अध्यापिकाएं श्वेता, कीर्ति, कोमल, पलक, प्रियंका, किरण, शालिनी, स्वाति, कीर्ति, लीना, जया, सुरेंद्र सैनी, बबीता, ममता, मेहरून्निसा, राजेश ने महतत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

40

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *