सरकार और मेला अधिष्ठान के रूख से अखाड़ा परिषद में भारी नाराजगी

हरिद्वार 

बैरागी अखाड़ों को छोड़कर बाकी 10 अखाड़ों जिसमें संन्यासी उदासीन और निर्मल अखाड़ा शामिल है, को कुंभ मेला क्षेत्र में भूमि आवंटन न किए जाने से अखाड़ा परिषद में भारी नाराजगी है। अखाड़ा परिषद ने उत्तराखंड सरकार और मेला अधिष्ठान को इस मामले में त्वरित कार्रवाई और भूमि आवंटन ना होने पर 12 और 14 अप्रैल के शाही स्नान को लेकर बड़ा निर्णय लेने का संकेत दिया है।
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि ने कहां है कि परिषद और परिषद में शामिल अखाड़े जिन्हें भूमि आवंटन नहीं हुआ है, इस बात को लेकर अखाड़े बेहद नाराज हैं और भूमि आवंटन ना होने पर शाही स्नान को लेकर बड़ा निर्णय ले सकते हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या अखाड़ा परिषद शाही स्नान के बहिष्कार की सोच रही है, इस पर अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्री महंत नरेंद्र गिरि ने कहा की फिलवक्त अखाड़ा परिषद में ऐसा कोई निर्णय नहीं लिया है, लेकिन अगर अखाड़ों और अखाड़ा परिषद की बात नहीं मानी गई तो वह इस पर विचार कर सकती है।

16

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *